Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरदेश-विदेशराष्ट्रीय

देश में CAA लागू करने की तैयारी, आज देर रात जारी हो सकता है नोटिफिकेशन

Citizenship Amendment Act 2019

Citizenship Amendment Act: लोकसभा चुनाव 2024 की घोषणा से पहले ही केंद्र सरकार देश में नागरिकता संशोधन कानून 2019 (CAA) लागू करने की पूरी तैयारी कर रही है। सूत्रों का कहना है कि गृह मंत्रालय की ओर से सीएए से जुड़ा नोटिफिकेशन आज सोमवार देर रात तक जारी किया जा सकता है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले आधे घंटे में कुछ अहम घोषणाएं भी करने वाले हैं, जो CAA से जुड़ी होने की संभावना है।

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के तहत, उत्पीड़न का सामना करने वाले गैर-मुस्लिम प्रवासियों को भारतीय नागरिकता दी जानी है, जिनमें बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई शामिल हैं, जो 31 दिसंबर 2014 से पहले भारत में बस गये थे। इसे दिसंबर 2019 में संसद द्वारा पारित किया गया। इसे राष्ट्रपति से भी मंजूरी मिल गयी।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी कहा था कि लोकसभा चुनाव से पहले सीएए लागू करने को लेकर अधिसूचना जारी कर दी जायेगी। उन्होंने यह भी साफ किया था कि मैं साफ कर देना चाहता हूं कि CAA से किसी की नागरिकता नहीं छीनी जायेगी।

हाल ही में गृह मंत्री शाह ने भी सीएए का विरोध करने वालों पर निशाना साधा था और कहा था कि इस मुद्दे पर देश के हमारे मुस्लिम भाइयों को भड़काया जा रहा है। इससे किसी की नागरिकता नहीं छीनी जायेगी। इस कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है। यह कानून उन लोगों के लिए बनाया गया है जो पाकिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न का शिकार हुए और भारत आकर शरण ली है।

गृह मंत्रालय की ओर से रजिस्ट्रेशन के लिए CAA का ऑनलाइन पोर्टल तैयार करने के बाद इसका ड्राई रन भी किया जा चुका है। CAA का सबसे बड़ा फायदा पड़ोसी देशों से आये उन शरणार्थियों को होगा जिनके पास किसी भी तरह के दस्तावेज नहीं हैं। इससे उन्हें भारत की नागरिकता हासिल करने में काफी मदद मिलेगी।

Citizenship Amendment Act 2019