Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

सरकारी स्कूल में बन रही थी नकली शराब, बिहार भेजने की तैयारी, पुलिस ने किया खुलासा, चार गिरफ्तार

चतरा : चतरा जिला पुलिस ने मंगलवार को अवैध शराब तस्करों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। मयूरहंड थाना क्षेत्र अलगडीहा गांव से नकली शराब की एक मिनी फैक्ट्री का पर्दाफाश करते हुए लाखों का माल जब्त किया गया है। पुलिस अधीक्षक राकेश रंजन को मिली गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की गई है। पुलिस ने इस मामले में झारखंड और बिहार के चार अंतरराज्यीय तस्करों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार आरोपियों में अलगडीहा गांव निवासी वीरेंद्र सिंह, खैरा गांव निवासी दिलीप सिंह, बांसडीह निवासी सूर्यदेव सिंह और बिहार के रोहतास जिले के सोनबरसा गांव निवासी हरेराम सिंह शामिल हैं।

क्या है पूरा मामला

तस्कर गांव के एक बंद सरकारी स्कूल भवन में मिनी शराब की फैक्ट्री चला रहे थे। करीब चार साल पहले स्कूल को पास के दूसरे स्कूल में स्थानांतरित कर दिया गया था। तब से स्कूल का भवन अधूरा पड़ा है। तस्करों ने इसका फायदा उठाकर वहां मिनी फैक्ट्रियां लगा रखी थीं। यहां नकली शराब बनाई जाती थी और बिहार में इसका सेवन किया जाता था। इसी क्रम में पुलिस कप्तान को इसकी जानकारी मिली और उन्होंने इटखोरी पुलिस निरीक्षक शिव प्रकाश कुमार के नेतृत्व में छापेमारी टीम का गठन किया. गठित टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जर्जर स्कूल में छापेमारी की।

नकली शराब बरामद

छापेमारी के क्रम में इम्पीरियल ब्लू के 37 प्रिंटेड कार्टन में 375 एमएल की 888 बोतलें, रॉयल स्टेज के 23 प्रिंटेड कार्टन में एमसी डॉवेल की 552 बोतलें, छह कार्टन में इंपीरियल ब्लू की 209 बोतलें, एमसी डॉवेल की 170 बोतलें बिना स्टिकर, रॉयल स्टेज के स्टिकर के बिना 180 मिलीलीटर की कुल 35 बोतलें, 200 लीटर क्षमता के दो प्लास्टिक ड्रम, 500 लीटर प्लास्टिक के दो सिंटेक्स, पटवान का एक पंप, एक प्लास्टिक गैलन में पांच लीटर काले रंग का रासायनिक तरल पदार्थ आदि बरामद हुआ है।

ऐसे हुआ खुलासा

पुलिस उपाध्यक्ष केदारनाथ राम ने बरामदगी का पूरा ब्योरा देते हुए बताया कि नकली शराब की पेटी निर्यात करने की तैयारी की जा रही है। गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी की गई। उन्होंने कहा कि अलगडीहा गांव निवासी वीरेंद्र सिंह, खैरा गांव निवासी दिलीप सिंह, बांसडीह गांव निवासी सूर्यदेव सिंह और बिहार के रोहतास जिले के सोनबरसा गांव निवासी हरेराम सिंह ने मिनी फैक्ट्रियां स्थापित की थीं. बिहार में नकली शराब भेजने की तैयारी की जा रही थी। इस दौरान गुप्त सूचना पर पुलिस ने छापेमारी की। इसके तुरंत बाद चारों आरोपी फरार हो गए। गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

छापेमारी में थाना प्रभारी राम वृक्ष राम, पुलिस उपनिरीक्षक अनिरुद्ध सिंह, एएसआई पंकज कुमार आदि शामिल थे।