Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

सरकारी स्कूल में बन रही थी नकली शराब, बिहार भेजने की तैयारी, पुलिस ने किया खुलासा, चार गिरफ्तार

चतरा : चतरा जिला पुलिस ने मंगलवार को अवैध शराब तस्करों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। मयूरहंड थाना क्षेत्र अलगडीहा गांव से नकली शराब की एक मिनी फैक्ट्री का पर्दाफाश करते हुए लाखों का माल जब्त किया गया है। पुलिस अधीक्षक राकेश रंजन को मिली गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की गई है। पुलिस ने इस मामले में झारखंड और बिहार के चार अंतरराज्यीय तस्करों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार आरोपियों में अलगडीहा गांव निवासी वीरेंद्र सिंह, खैरा गांव निवासी दिलीप सिंह, बांसडीह निवासी सूर्यदेव सिंह और बिहार के रोहतास जिले के सोनबरसा गांव निवासी हरेराम सिंह शामिल हैं।

क्या है पूरा मामला

तस्कर गांव के एक बंद सरकारी स्कूल भवन में मिनी शराब की फैक्ट्री चला रहे थे। करीब चार साल पहले स्कूल को पास के दूसरे स्कूल में स्थानांतरित कर दिया गया था। तब से स्कूल का भवन अधूरा पड़ा है। तस्करों ने इसका फायदा उठाकर वहां मिनी फैक्ट्रियां लगा रखी थीं। यहां नकली शराब बनाई जाती थी और बिहार में इसका सेवन किया जाता था। इसी क्रम में पुलिस कप्तान को इसकी जानकारी मिली और उन्होंने इटखोरी पुलिस निरीक्षक शिव प्रकाश कुमार के नेतृत्व में छापेमारी टीम का गठन किया. गठित टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जर्जर स्कूल में छापेमारी की।

नकली शराब बरामद

छापेमारी के क्रम में इम्पीरियल ब्लू के 37 प्रिंटेड कार्टन में 375 एमएल की 888 बोतलें, रॉयल स्टेज के 23 प्रिंटेड कार्टन में एमसी डॉवेल की 552 बोतलें, छह कार्टन में इंपीरियल ब्लू की 209 बोतलें, एमसी डॉवेल की 170 बोतलें बिना स्टिकर, रॉयल स्टेज के स्टिकर के बिना 180 मिलीलीटर की कुल 35 बोतलें, 200 लीटर क्षमता के दो प्लास्टिक ड्रम, 500 लीटर प्लास्टिक के दो सिंटेक्स, पटवान का एक पंप, एक प्लास्टिक गैलन में पांच लीटर काले रंग का रासायनिक तरल पदार्थ आदि बरामद हुआ है।

ऐसे हुआ खुलासा

पुलिस उपाध्यक्ष केदारनाथ राम ने बरामदगी का पूरा ब्योरा देते हुए बताया कि नकली शराब की पेटी निर्यात करने की तैयारी की जा रही है। गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी की गई। उन्होंने कहा कि अलगडीहा गांव निवासी वीरेंद्र सिंह, खैरा गांव निवासी दिलीप सिंह, बांसडीह गांव निवासी सूर्यदेव सिंह और बिहार के रोहतास जिले के सोनबरसा गांव निवासी हरेराम सिंह ने मिनी फैक्ट्रियां स्थापित की थीं. बिहार में नकली शराब भेजने की तैयारी की जा रही थी। इस दौरान गुप्त सूचना पर पुलिस ने छापेमारी की। इसके तुरंत बाद चारों आरोपी फरार हो गए। गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

छापेमारी में थाना प्रभारी राम वृक्ष राम, पुलिस उपनिरीक्षक अनिरुद्ध सिंह, एएसआई पंकज कुमार आदि शामिल थे।