Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

लातेहार: साइबर ठगी के दो मामलों में पुलिस ने तीन साइबर अपराधियों को किया गिरफ्तार, जेल

अजय/लातेहार

लातेहार : पुलिस ने साइबर ठगी के दो मामले में तीन साइबर अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता ने प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि लातेहार धरमपुर निवासी मनोज कुमार के साथ ही फ्लिपकार्ट कंपनी का कस्टमर केयर बनकर साइबर ठगों से 45000 ठगे गए। इस संबंध में लातेहार थाने में मामला क्रमांक 145/22 दर्ज किया गया था।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जबकि लातेहार के होसीर निवासी विनोद राम पिता सुरेश राम के साथ एक साइबर अपराधी ने फोन पे पर कैशबैक देकर 130000 की ठगी की। विनोद राम के लिखित आवेदन पर लातेहार थाने में मामला क्रमांक 205/22 दर्ज किया गया था।

उन्होंने बताया कि उपरोक्त मामलों को उजागर करने और साइबर अपराध कर्मियों को गिरफ्तार करने के लिए लातेहार के पुलिस अधीक्षक द्वारा एक छापेमारी टीम का गठन किया गया था।

साइबर अपराधी चंदन कुमार तुरी को छापेमारी टीम द्वारा तकनीकी साक्ष्य और गुप्त सूचना के आधार पर जिला जामताड़ा के करमाटांड से गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही ग्राम तेतरिया थाना पलाजोरी देवघर से साइबर अपराधी रंजीत कुमार यादव और शुभम कुमार यादव को गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ के बाद तीनों को जेल भेज दिया गया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इनके पास से घटना में प्रयुक्त मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया गया है। साइबर फ्रॉड के एक अन्य मामले में रंजीत कुमार यादव और शुभम कुमार यादव फरार चल रहे थे। तीनों अपराधियों ने धोखाधड़ी के मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने 3 एंड्रायड फोन भी बरामद किए हैं।

छापेमारी करने वाली टीम में पुलिस अवर निरीक्षक दीपक नारायण सिंह, आरक्षी वीरेंद्र पासवान, सुरेश कुमार सिंह समेत अन्य जवान शामिल थे।