Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: प्रदर्शन से पहले ही पुलिस ने किया आजसू नेताओं को गिरफ्तार, आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने किया मुख्यमंत्री का पुतला दहन

लातेहार : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की जोहार यात्रा के दौरान लातेहार में दो कॉलेजों के शिलान्यास के 10 महीने बाद भी पढ़ाई शुरू नहीं होने के विरोध में आजसू पार्टी बुधवार को मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का बहिष्कार करते हुए प्रदर्शन करने वाली थी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इसकी जानकारी मिलते ही आजसू जिला अध्यक्ष अमित पांडे, केंद्रीय सदस्य राकेश सिंह और जिला उपाध्यक्ष विजेंद्र दास को मंगलवार की रात ही गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी से नाराज आजसू कार्यकर्ताओं ने बुधवार को थाना गेट के सामने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का पुतला फूंका।

आजसू जिला अध्यक्ष अमित कुमार पांडे ने कहा कि आजसू पार्टी आंदोलन से जन्मी पार्टी है। वह लाठी, गोली या जेल से नहीं डरती। उन्होंने कहा कि आंदोलन को जितना दबाया जायेगा। वह उतना ही उग्र हो जायेगा। उन्होंने कहा कि आजसू पार्टी ने डिग्री कॉलेज का ताला खुलवाने के लिए आंदोलन शुरू किया है, वह आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने आगे कहा कि गठबंधन सरकार जोर-शोर से दावा करती है कि बोलने की आजादी है, लेकिन जब आवाज उठाती है तो उसे दबा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि आजाद भारत में सभी को अपनी आवाज उठाने और विरोध करने का अधिकार है, लेकिन आवाज उठाने के प्रति सरकार के इशारे पर जिला प्रशासन ने जिस तरह का रवैया अपनाया है। वह ठीक नहीं है।

मौके पर जिला प्रवक्ता रितेश पांडेय, प्रखंड अध्यक्ष अमर उरांव समेत कई कार्यकर्ता मौजूद थे।