Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Wednesday, May 29, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड: दिवाली की रात सिर्फ दो घंटे पटाखे जलाने की अनुमति, उल्लंघन पर होगी कार्रवाई, अन्य त्योहारों का भी समय निर्धारित

रांची : झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद ने पटाखे फोड़ने का समय तय कर दिया है। दीपावली पर्व पर रात्रि 8-10 बजे तक पटाखे फोड़ने की अनुमति होगी। छठ के दौरान यह सुबह 6 से 8 बजे तक ही संभव होगा। क्रिसमस और नये साल के दिन रात 11.55 से 12.30 बजे तक पटाखे फोड़े जा सकते हैं।

सदस्य सचिव यतींद्र कुमार दास ने गुरुवार को बताया कि वायु प्रदूषण की रोकथाम को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी, नई दिल्ली) ने आदेश जारी किये हैं। इसके आधार पर प्रदूषण नियंत्रण परिषद अपनी शक्तियों का प्रयोग करेगी। ऐसे में जरूरी है कि दिवाली के दिन लोग रात 8 बजे से 10 बजे तक ही पटाखे जलायें। इसके अलावा छठ, क्रिसमस, नये साल आदि त्योहारों के दौरान भी सिर्फ दो घंटे ही पटाखे चलाये जायेंगे।

इस निर्देश का उल्लंघन करने पर आईसीसी की धारा 188 एवं वायु प्रदूषण निवारण एवं नियंत्रण अधिनियम 1981 की धारा 37 एवं अन्य सुसंगत अधिनियमों के तहत जिले के डीसी स्तर से कानूनी कार्रवाई की जायेगी। परिषद के अनुसार, इस वर्ष झारखंड के सभी जिलों के शहरी क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता का स्तर अच्छी या संतोषजनक स्थिति में है। ऐसे में वायु गुणवत्ता बनाये रखने के लिए यहां केवल ऐसे पटाखे ही बेचे जायेंगे जिनकी ध्वनि सीमा 125 डीबी (ए) से कम हो।

Jharkhand Firecrackers Permission News