Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

मुख्यमंत्री हेमंत ने कहा- बिहार-यूपी के लोग साजिश के तहत झारखंडी हित में बनी नीतियों को ले जाते हैं न्यायालय

रांची : झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को सदन की कार्यवाही में भाग लेते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि बिहार-यूपी की जनता झारखंडियों के हित में बनी नीतियों को साजिश के तहत कोर्ट तक ले जाती है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यमंत्रणा में राज्यपाल के यहां जाने पर चर्चा हुई थी। यह बैठक नियोजन नीति निरस्त होने के बाद होनी है। नियोजन नीति को तीसरी बार निरस्त किया गया है। रघुबर दास की सरकार में जो नीति बनी थी, उसे भी रद्द कर दिया गया था। कार्यपालिका द्वारा तीन बार बनायी गयी नीतियों को कोर्ट ने खारिज कर दिया है। यह दुर्भाग्य की बात है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हेमंत सोरेन ने कहा कि हाई कोर्ट में एक आदिवासी युवक को आगे करके बाकी लोग जो यूपी और बिहार के हैं, कम्प्लेंनेट बन जाते हैं। यह एक साजिश है। इस साजिश को समझने की जरूरत है। इस समस्या से निपटने के लिए सदन द्वारा पारित स्थानीय नीति और आरक्षण विधेयक को 9वीं अनुसूची में जोड़ा जाना चाहिए। मैं इस संबंध में राज्यपाल से मिलने जा रहा हूं। मैंने सभी पार्टियों से संपर्क किया है। उन्होंने कहा कि अपील है कि झारखंड के हित में सभी विधायक राजभवन चलें।