Breaking :
||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा||चतरा के पांच अफीम तस्कर हजारीबाग में गिरफ्तार||झारखंड में 4 IPS अफसरों का तबादला, लातेहार SP के पद पर बने रहेंगे अंजनी अंजन, 27 IPS अधिकारियों का मूवमेंट ऑडर जारी||बालूमाथ के चोरझरिया घाटी में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत समेत बालूमाथ की चार खबरें||झारखंड: आग लगने की सूचना पर ट्रेन से कूदे यात्री, झाझा-आसनसोल यात्रियों के ऊपर से गुजरी, 12 की मौत||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं रांची, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में हुईं शामिल, कहा- दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर भारत||झारखंड में बिजली हुई महंगी, नयी दरें एक मार्च से होंगी लागू||झारखंड में बड़े पैमाने पर BDO की ट्रांसफर-पोस्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट
Friday, March 1, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडल

पलामू: स्कूल के प्राचार्य व चपरासी में जमकर चले लात-घूंसे, वीडियो वायरल

पलामू : सरकारी स्कूलों में शिक्षकों द्वारा बच्चों की पिटाई की खबरें आम हैं। लेकिन झारखंड के पलामू में एक अलग ही नजारा सामने आया है। स्कूल के प्राचार्य और चपरासी के बीच जमकर मारपीट हुई। इस मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि दोनों के बीच काफी देर तक नोकझोंक होती रही। इतना ही नहीं दोनों ने हाथ में डंडा भी लिया हुआ है और एक दूसरे को भला-बुरा बोलते भी नजर आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें :- झारखण्ड : 991 पदों पर निकली बम्पर वैकेंसी, 12वीं पास कर सकेंगे आवेदन

मामला मेदिनीनगर, पलामू के सरकारी प्लस टू हाई स्कूल (जिला स्कूल) का है। मारपीट करने वाले प्रभारी प्राचार्य करुणा शंकर तिवारी और चपरासी हिमांशु तिवारी हैं। शुक्रवार की सुबह इन दोनों के बीच जमकर लात-घूंसे चले। गाली-गलौज भी हुई। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान स्कूल के शिक्षक व अन्य स्टाफ मूकदर्शक बने रहे।

इसे भी पढ़ें :- झारखण्ड बीएड प्रवेश परीक्षा के लिए आज से आवेदन शुरू

चपरासी ने प्रिंसिपल पर स्कूल का सामान बेचने का आरोप लगाया है, वहीं प्रिंसिपल का कहना है कि चपरासी समय पर स्कूल नहीं आता, काम भी नहीं करता। अब मामला शिक्षा विभाग तक पहुंच गया है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें