Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी
Tuesday, April 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के खिलाफ कांग्रेस नेता के विवादित बयान से भाजपा नेताओं में आक्रोश

controversial statement of Congress leader

रांची : कांग्रेस नेता डॉ अजय कुमार की विवादित टिप्पणी के बाद झारखंड के बीजेपी नेताओं में गुस्सा है। अर्जुन मुंडा ने कहा है कि कांग्रेस को देश से माफी मांगनी चाहिए। तो वहां दीपक प्रकाश ने कहा कि यह 11 करोड़ आदिवासियों का अपमान है। गौरतलब है कि कांग्रेस नेता डॉ अजय कुमार ने एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के खिलाफ विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि द्रौपदी मुर्मू भारत के शैतानी दर्शन का प्रतिनिधित्व करती हैं। हमें उन्हें आदिवासियों का प्रतीक नहीं बनाना चाहिए।

कांग्रेस नेता के इस बयान से बीजेपी नाराज है। बीजेपी नेताओं ने इसे कांग्रेस की सोच बताया है और इसे द्रौपदी मुर्मू का अपमान बताया है। हालांकि बाद में डॉ अजय कुमार ने कहा कि उनके बयान को बीजेपी ने तोड़-मरोड़ कर पेश किया है। उन्होंने जिस संदर्भ में यह बयान दिया है वह अलग है। इधर कांग्रेस नेता का बयान और बीजेपी का रिएक्शन ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है।

https://twitter.com/yourBabulal/status/1547128722318233600?s=20&t=TqitWfFBcADWwrnBPUogNg

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कांग्रेस नेता डॉ अजय कुमार ने कहा कि यशवंत सिन्हा एक अच्छे उम्मीदवार हैं, द्रौपदी मुर्मू एक सभ्य व्यक्ति हैं, लेकिन वह भारत के शैतानी दर्शन का प्रतिनिधित्व करती हैं। हमें उन्हें आदिवासियों का प्रतीक नहीं बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति हैं, लेकिन एससी पर अत्याचार हो रहे हैं। मोदी सरकार जनता को बेवकूफ बना रही है।

इधर, डॉ अजय कुमार ने इस मामले में बीजेपी आईटी सेल पर आरोप लगाते हुए कहा है कि यह काम सुनियोजित साजिश के तहत किया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी का आईटी सेल मेरे बयान से छेड़छाड़ कर सच नहीं बदल सकता. उन्होंने कहा कि खुद को आदिवासियों के विचारक बताने वाली भाजपा ने आदिवासी समाज के लिए काम करने वाले फादर स्टेन स्वामी के साथ जो किया वह किसी से छिपा नहीं है। उन्होंने इस मामले में स्मृति ईरानी से भी सवाल किया है कि अब कौन आदिवासी विरोधी है, यह बताया जाए।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इधर, भाजपा आईटी सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने डॉ कुमार का वीडियो शेयर करते हुए कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक आदिवासी महिला द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया तो उसके पीछे की सोच आदिवासी समाज को सशक्त बनाने की है। वहीं कांग्रेस नेता उन्हें शैतानी विचारक बता रहे हैं क्योंकि द्रौपदी आदिवासी समाज से आती हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह की बात करते हुए कांग्रेस को शर्म आनी चाहिए।