Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में सड़क हादसे में एक बाइक सवार की मौत, दो अन्य घायल||अपहृत डॉक्टर सकुशल बरामद, डालटनगंज में किराये का मकान लेकर छिपा रखे थे अपहरणकर्ता, तीन गिरफ्तार||रांची में पचास हजार का इनामी माओवादी हथियार के साथ गिरफ्तार||गुमला में तेज रफ़्तार का कहर, सड़क हादसे में दो छात्रों की दर्दनाक मौत||रांची: TSPC के इनामी उग्रवादी ने पुलिस के सामने किया सरेंडर||विजय संकल्प महारैली में बोले पीएम मोदी, मोदी की गारंटी पर देश कर रहा भरोसा, अबकी बार 400 पार||पलामू: बेटी की शादी के लिए बैंक से निकाले पैसे, रुपयों से भरा बैग छीनकर लुटेरे हुए फरार||सिंदरी खाद कारखाना चालू कराने का लिया था संकल्प, मोदी की गारंटी हुई पूरी : नरेन्द्र मोदी||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा
Saturday, March 2, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरगढ़वापलामू प्रमंडल

31 जनवरी तक ही आदमखोर तेंदुए को मारने का आदेश, अब मध्य प्रदेश से आयेगी एक्सपर्ट की टीम

आदमखोर तेंदुआ

आदमखोर तेंदुआ को पकड़ने के लिए वन विभाग ने संजय-डुबरी टाइगर रिजर्व से मांगी मदद

रांची : गढ़वा जिले में आदमखोर तेंदुए को मारने का अधिकारिक आदेश मिला है लेकिन इसकी वैधता 31 जनवरी तक ही है। समय बीतता देख वन विभाग ने मध्य प्रदेश के संजय-डुबरी टाइगर रिजर्व से आदमखोर तेंदुआ को पकड़ने के लिए मदद मांगी है।

आदमखोर तेंदुआ के पंजों के निशान

नवाब शफत अली खान की टीम 3 जनवरी से कर रही कोशिश

पलामू वन परिक्षेत्र के क्षेत्रीय मुख्य वन संरक्षक कुमार आशुतोष ने बताया कि यदि तेंदुआ 31 जनवरी तक पकड़ा या मारा नहीं जाता है तो उसे एक बार फिर से मारने के लिए पीसीएफ वाइल्ड लाइफ से अनुमति मांगी जायेगी। फिलहाल विभाग ने संजय टाइगर रिजर्व से विशेषज्ञों की टीम बुलायी है। उन्होंने बताया कि नवाब शफत अली खान की टीम तीन जनवरी से तेंदुए को पकड़ने के लिए डेरा डाले हुए है।

आदमखोर तेंदुआ को ट्रैप करने के लिए लगाये गये ट्रैकिंग कैमरे

अब चार किलोमीटर के दायरे में घूम रहा तेंदुआ

वन विभाग के अधिकारी के मुताबिक रमकंडा और भंडरिया की सीमा पर कुशवार के इलाके में लगातार तेंदुए की लोकेशन मिल रही है। जनवरी के पहले सप्ताह तक गढ़वा के रंका, रमकंडा और भंडरिया के सीमावर्ती इलाकों के 10 किलोमीटर के दायरे में तेंदुआ घूम रहा था। अब इसका दायरा घटकर चार किलोमीटर रह गया है।

आदमखोर तेंदुआ को पकड़ने के लिये लगाया गया केज

ट्रैकिंग कैमरे में अब तक कैद नहीं हो सकी तस्वीर

तेंदुए को पकड़ने के लिए 50 ट्रैकिंग कैमरे लगाये गये हैं। फिर भी अभी तक उसमें उसकी तस्वीर नहीं कैद हो पायी है। छह पिंजरे भी लगाये गये लेकिन अब तक वह फंसा नहीं है। हालांकि, उसके पंजों के निशान केज के बगल में पाये गये।

अब तक चार की ले चुका है जान

गौरतलब है कि आदमखोर तेंदुआ पिछले 37 दिनों से गढ़वा दक्षिणी मंडल के भंडरिया, रंका, रमकंडा प्रखंड और पलामू टाइगर रिजर्व के छीपादोहर में सक्रिय है। तेंदुए ने अब तक चार बच्चों को मार डाला है। इसमें गढ़वा में तीन और लातेहार में एक बच्चे की मौत हुई है। सभी की उम्र छह से 12 साल के बीच थी।

आदमखोर तेंदुआ