Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

कांग्रेस सांसद के आपत्तिजनक बयान पर विपक्ष का हंगामा, सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित

रांची : झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र शुक्रवार से शुरू हो गया है। छह कार्य दिवसों के पहले दिन देश और राज्य की दिवंगत हस्तियों को श्रद्धांजलि दी गई। वहीं कांग्रेस सांसद द्वारा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के खिलाफ दिए गए आपत्तिजनक बयान पर गुस्साए विपक्ष ने हंगामा किया। विपक्ष कांग्रेस सांसद से माफी की मांग कर रहा था। विपक्ष के हंगामे को देखते हुए स्पीकर ने सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी।

शुक्रवार को सदन के पहले दिन शोक प्रकाश के साथ सदन की कार्यवाही शुरू हुई। इस दौरान कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी द्वारा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के खिलाफ दिए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर भाजपा विधायकों ने सदन के बाहर प्रदर्शन किया और कांग्रेस से माफी की मांग की। साथ ही कार्रवाई की रिपोर्ट (एटीआर) भी सदन में रखी गई। पिछले सत्र में सदन में आए सवालों को लेकर सरकार की ओर से की गई कार्रवाई की रिपोर्ट रखी गई।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पहले दिन सीएम हेमंत सोरेन, स्पीकर रवींद्र नाथ महतो, संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम, मंत्री सत्यानंद भिक्ता, बीजेपी के मुख्य सचेतक विरांची नारायण, आजसू विधायक सुदेश महतो, विधायक सरयू राय, प्रदीप यादव, अमित यादव समेत अन्य विधायकों ने दिवंगत हस्तियों को श्रद्धांजलि दी।

झारखंड का मानसून सत्र 29 जुलाई से शुरू होकर 5 अगस्त तक चलेगा। राज्य में सूखे की स्थिति पर छह दिन के कार्य दिवस पर चर्चा की जाएगी। वहीं, 2 अगस्त को वित्तीय वर्ष 2022-2023 का पहला अनुपूरक बजट पेश किया जाएगा।

झारखंड के इस मानसून सत्र में पहली बार मुख्यमंत्री प्रश्नकाल नहीं होगा। आपको बता दें कि बजट सत्र के बाद मुख्यमंत्री प्रश्नकाल का प्रावधान था, जिसे इस सत्र से समाप्त कर दिया गया। इसके चलते झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल नहीं होगा।