Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी
Tuesday, April 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स

Jharkhand New Water Tariff-2023

नये वाटर टैरिफ-2023 की विभागीय अधिसूचना जारी, एक अप्रैल से पूरे प्रदेश में हो जायेगा लागू

रांची : शहरी क्षेत्रों में अब 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स देना होगा। हालांकि, ग्रामीण क्षेत्रों को वाटर टैक्स से छूट दी गयी है। इस संबंध में शुक्रवार को राज्य सरकार ने नया वाटर टैरिफ-2023 तैयार कर विभागीय अधिसूचना जारी कर दी है, जिसे एक अप्रैल से पूरे प्रदेश में लागू कर दिया जायेगा।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

ग्रामीण क्षेत्रों में 4.30 रुपये प्रति हजार लीटर की दर से देना होगा टैक्स

अब नगर निगमों, नगर पालिकाओं और शहरी अधिसूचित क्षेत्रों में पांच हजार लीटर तक पानी मुफ्त नहीं मिल पायेगा। केवल ग्रामीण क्षेत्रों में बनी नहरों के पानी का उपयोग करने पर 4.30 रुपये प्रति हजार लीटर देना होगा। एपीएल और बीपीएल स्लैब भी हटा दिये गये हैं। ग्रामीण क्षेत्रों का वाटर टैक्स शून्य रखा गया है। सिर्फ नहर के पानी का उपयोग करने पर 4.30 रुपये प्रति हजार देना होगा। ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को अन्य स्रोतों से उपयोग किये जाने वाले पानी पर कोई शुल्क नहीं देना होगा।

औद्योगिक क्षेत्र के आवासीय परिसर में 4.30 रुपये प्रति लीटर की दर से देना होगा वाटर टैक्स

औद्योगिक क्षेत्र के आवासीय परिसर को इंडस्ट्रियल दर से बाहर रखा गया है। इसमें 4.30 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स देना होगा। कुल मिलाकर 7.5 फीसदी की बढ़ोतरी की गयी है। यह मुद्रास्फीति दर के आधार पर औसत वृद्धि है। एक अप्रैल से अब यह प्रतिशत बढ़ाया जायेगा। सरकार ने तर्क दिया है कि ओडिशा, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, गुजरात, पश्चिम बंगाल और बिहार जैसे राज्यों में लागू वाटर टैक्स स्लैब पर विचार करने के बाद इसे झारखंड में लागू किया जा रहा है।

पूरे साल के वाटर टैक्स की राशि जमा करने पर मिलेगी छूट

अब जल के स्रोत को तीन भागों में बांटा गया है। इसमें प्राकृतिक जल निकाय (नदी, नाला, जलधारा), जलाशय और जलाशयों की निचली धाराएं और निर्मित नहरें आदि शामिल हैं। नये वाटर टैरिफ में कहा गया है कि विलंब भुगतान अधिभार (डीपीएस) को 10 प्रतिशत से घटाकर 2 प्रतिशत कर दिया गया है। वहीं, वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में अगर उपभोक्ता अपने पूरे साल के वाटर टैक्स की राशि जमा करते हैं तो उन्हें वाटर टैक्स बिल में प्रतिशत की छूट दी जायेगी।

Jharkhand New Water Tariff-2023