Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

अब झारखंड के BRP-CRP होंगे स्थायी, बनाई जाएंगी सेवा के नियम और शर्तें

रांची : झारखंड के बीआरपी-सीआरपी अब स्थायी होंगे। इसके लिए नियम बनाए जाएंगे। शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया। प्रदेश में करीब तीन हजार बीआरपी-सीआरपी 15 साल से कार्यरत हैं। उन्हें सर्व शिक्षा अभियान के तहत नियुक्त किया गया है। बीआरपी-सीआरपी लंबे समय से पुष्टि की मांग कर रहे हैं।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

प्राथमिक शिक्षा निदेशक की अध्यक्षता में उनकी सेवा शर्त नियमों के लिए एक समिति गठित की जाएगी। समिति अन्य राज्यों में बीआरपी-सीआरपी को दी जा रही सुविधाओं का अध्ययन कर रिपोर्ट तैयार करेगी। इसके आधार पर नियम बनाए जाएंगे। बैठक में शिक्षा सचिव राजेश कुमार शर्मा, झारखंड शिक्षा परियोजना निदेशक किरण कुमारी पासी, बीआरपी-सीआरपी फेडरेशन के अध्यक्ष पंकज शुक्ला, विनय हलधर, अमर खत्री और अशोक पाल मौजूद थे।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

बीआरपी-सीआरपी 60 साल तक काम कर सकेंगे। इसके लिए नियमों में प्रावधान किया जाएगा। प्रदेश में बीआरपी-सीआरपी कितने साल काम करेंगे, इसका फिलहाल कोई प्रावधान नहीं है। इसकी मांग बीआरपी-सीआरपी लंबे समय से कर रहे थे।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

फिलहाल बीआरपी-सीआरपी के बढ़े हुए मानदेय का भुगतान राज्य सरकार करेगी. उल्लेखनीय है कि वर्ष 2019 में बीआरपी-सीआरपी के मानदेय में 25 प्रतिशत की वृद्धि की गई थी। बढ़ा हुआ मानदेय केंद्र सरकार द्वारा नहीं दिया जा रहा था। अब तक बढ़ा हुआ मानदेय झारखंड शिक्षा परियोजना द्वारा दिया जा रहा था। शिक्षा परियोजना राशि का भुगतान करने में असमर्थता व्यक्त कर रही थी। इसे देखते हुए अब बढ़ा हुआ मानदेय राज्य सरकार द्वारा दिया जाएगा।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बीआरपी-सीआरपी का मानदेय भी बढ़ाया जाएगा। कमेटी इसकी अनुशंसा भी करेगी। समिति की अनुशंसा के अनुसार मानदेय में वृद्धि की जाएगी। समिति में वित्त, कानून और कार्मिक विभागों के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे।