Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

माओवादी प्रशांत बोस समेत नौ नक्सलियों पर चलेगा देशद्रोह का मुकदमा, सरकार ने दी इजाजत

रांची : राज्य सरकार ने झारखंड में नौ माओवादियों पर देशद्रोह का मुकदमा चलाने की अनुमति दे दी है। जांच रिपोर्ट व पुलिस की संस्तुति के आधार पर सरकार से मुकदमा चलाने की अनुमति प्राप्त हुई है। यह केस भाकपा माओवादी नक्सली संगठन के पोलित ब्यूरो सदस्य के पद पर रहे प्रशांत बोस समेत नौ नक्सलियों पर चलेगा।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

अन्य नक्सलियों में सरायकेला-खरसावां के दारूदा निवासी महाराज प्रमाणिक उर्फ राज, गिरिडीह जिले के पीरटांड़ निवासी सेंट्रल कमेटी के नक्सली पति राम मांझी उर्फ अनल उर्फ रमेश, तमाड़ थाना क्षेत्र के तमराना निवासी अमित मुंडा उर्फ चुका मुंडा, खूंटी जिले के रनिया थाना क्षेत्र निवासी जीवन कंडुलना, अड़की थाना क्षेत्र के हरदलामा निवासी प्रभात मुंडा उर्फ मुखिया, विमल लोहरा उर्फ निलेश लोहरा, कुचाई थाना क्षेत्र के जमबीरा निवासी नेल्सन कंडीर और सुलेमान कंडीर शामिल हैं।

गौरतलब है कि नक्सलियों के खिलाफ 16 दिसंबर 2018 को टोकलो थाने में देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का मामला दर्ज किया गया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि संबंधित नक्सली थाना क्षेत्र के एक नक्सल प्रभावित क्षेत्र में देश विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए जमा हो रहे हैं। मामला दर्ज करने के बाद जब पुलिस ने जांच शुरू की तो पुलिस ने आरोप को सही पाया।