Breaking :
||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत||लातेहार: बारियातू में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस||गुमला में TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और जिंदा कारतूस समेत अन्य सामान बरामद||चतरा: नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, दो सिलेंडर बम बरामद||मनी लॉन्ड्रिंग मामले में निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम की जमानत याचिका खारिज, पत्नी व पिता को भी नहीं मिली राहत||नहाय खाय के साथ सूर्योपासना का चार दिवसीय चैती छठ महापर्व शुरू||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में अनुपस्थित 56 मतदान कर्मियों को मिला आखिरी मौका, उपस्थित नहीं हुए तो होगी कार्रवाई
Sunday, April 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

कारोबारी को ब्लैकमेल करने के आरोप में News11 भारत के मालिक रांची से गिरफ्तार

रांची : News11 भारत के मालिक अरूप चटर्जी को शनिवार देर रात धनबाद पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। अरूप चटर्जी को गोंदा थाना क्षेत्र के कांके रोड चांदनी चौक स्थित अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया गया।

बता दें कि अरूप चटर्जी के खिलाफ धनबाद में एक कारोबारी से रंगदारी वसूलने का मामला दर्ज किया गया था। जिसमें कोर्ट ने उसकी गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था। एसएसपी संजीव कुमार ने डीएसपी अमर कुमार पांडेय के नेतृत्व में टीम बनाई। पुलिस टीम शनिवार की देर रात चांदनी चौक स्थित अरूप चटर्जी के अपार्टमेंट में पहुंची। धनबाद पुलिस टीम ने गोंदा थाने की मदद से अपार्टमेंट में छापा मारा और अरूप चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया।

27 जून को धनबाद के गोविंदपुर थाने में अरूप चटर्जी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। शिकायतकर्ता राकेश कुमार ने मामला दर्ज कराते हुए कहा था कि अरूप चटर्जी ने अपने आदमी मैनेजर राय के जरिए ब्लैकमेल कर 11 लाख रुपये की मांग की थी। जिसमें 6 लाख रुपये भी दिए गए। इसके बावजूद झूठी खबरें चलाई गईं और फिर अधिक पैसे की मांग की गई।

यहां बता दें कि News11 भारत के मालिक अरूप चटर्जी के खिलाफ अलग-अलग अदालतों में ब्लैकमेलिंग, धोखाधड़ी, चेक बाउंस, साजिश से जुड़े कुल 22 मामले चल रहे हैं। इन चारों मामलों में महीनों पहले से गिरफ्तारी वारंट जारी किया जा चुका है। अरूप चटर्जी को दिया गया बॉडीगार्ड भी रांची पुलिस ने कुछ दिन पहले वापस बुला लिया था।