Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

कारोबारी को ब्लैकमेल करने के आरोप में News11 भारत के मालिक रांची से गिरफ्तार

रांची : News11 भारत के मालिक अरूप चटर्जी को शनिवार देर रात धनबाद पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। अरूप चटर्जी को गोंदा थाना क्षेत्र के कांके रोड चांदनी चौक स्थित अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया गया।

बता दें कि अरूप चटर्जी के खिलाफ धनबाद में एक कारोबारी से रंगदारी वसूलने का मामला दर्ज किया गया था। जिसमें कोर्ट ने उसकी गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था। एसएसपी संजीव कुमार ने डीएसपी अमर कुमार पांडेय के नेतृत्व में टीम बनाई। पुलिस टीम शनिवार की देर रात चांदनी चौक स्थित अरूप चटर्जी के अपार्टमेंट में पहुंची। धनबाद पुलिस टीम ने गोंदा थाने की मदद से अपार्टमेंट में छापा मारा और अरूप चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया।

27 जून को धनबाद के गोविंदपुर थाने में अरूप चटर्जी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। शिकायतकर्ता राकेश कुमार ने मामला दर्ज कराते हुए कहा था कि अरूप चटर्जी ने अपने आदमी मैनेजर राय के जरिए ब्लैकमेल कर 11 लाख रुपये की मांग की थी। जिसमें 6 लाख रुपये भी दिए गए। इसके बावजूद झूठी खबरें चलाई गईं और फिर अधिक पैसे की मांग की गई।

यहां बता दें कि News11 भारत के मालिक अरूप चटर्जी के खिलाफ अलग-अलग अदालतों में ब्लैकमेलिंग, धोखाधड़ी, चेक बाउंस, साजिश से जुड़े कुल 22 मामले चल रहे हैं। इन चारों मामलों में महीनों पहले से गिरफ्तारी वारंट जारी किया जा चुका है। अरूप चटर्जी को दिया गया बॉडीगार्ड भी रांची पुलिस ने कुछ दिन पहले वापस बुला लिया था।