Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

झारखंड: बढ़ते गतिरोध के बीच बदले गये 4 जिलों के नवनियुक्त कांग्रेस अध्यक्ष

रांची : बढ़ते गतिरोध के बीच झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नवनियुक्त जिलाध्यक्षों में बड़े बदलाव किये हैं। झारखंड के चार जिलों के नवनियुक्त अध्यक्षों को हटा दिया गया है। उनके बदले नये अध्यक्ष नियुक्त किये गये हैं। जिसमें दो मुस्लिम और दो अनुसूचित जाति के हैं।

हटाये गये अध्यक्षों में तीन ब्राह्मण और एक ओबीसी जाति से

हटाये जाने वालों में रामगढ़, गढ़वा, साहिबगंज और कोडरमा के जिलाध्यक्ष शामिल हैं। जिन चार जिलाध्यक्षों को हटाया गया है, उनमें से तीन ब्राह्मण जाति और एक ओबीसी जाति से हैं। रामगढ़ में शांतनु मिश्रा के स्थान पर मुन्ना पासवान, गढ़वा में श्रीकांत तिवारी के स्थान पर उबेदुल्लाह हक अंसारी, साहिबगंज में अनिल कुमार ओझा के स्थान पर बरकतुल्लाह खान और कोडरमा में नारायण बरनवाल के स्थान पर भगीरथ पासवान को जगह दी गयी है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आपको बता दें कि प्रदेश कांग्रेस में नवनियुक्त जिलाध्यक्षों के नाम आने के बाद से विरोध तेज होता जा रहा था। विरोध इतना ज्यादा था कि प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडेय पर दलित विरोधी और मुस्लिम विरोधी होने तक का आरोप लगा।

वहीं, कांग्रेस के पूर्व सांसद फुरकान अंसारी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष मलिकार्जुन खड़गे से मुलाकात की और प्रदेश कांग्रेस के भीतर अल्पसंख्यकों और अनुसूचित जातियों के हाशिए पर जाने का मुद्दा उठाया। जिसके बाद ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर चारों जिलों के नवनियुक्त अध्यक्षों को बदल दिया गया है।