Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं सीएम हेमंत सोरेन के घर, बंद कमरे में आधे घंटे तक हुई बात

रांची : राष्ट्रपति चुनाव के लिए सभी दलों के समर्थन के लिए देश का दौरा कर रही एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू सोमवार को रांची पहुंचीं. यहां एनडीए विधायकों और सांसदों से मुलाकात करने के बाद वह मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सरकारी आवास पर पहुंचीं।

यहां उन्होंने मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष शिबू सोरेन से मुलाकात की और उनका समर्थन मांगा. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने उनके स्वागत में पलकें बिछाए। धनबाद में कार्यक्रम समाप्त करने के बाद वे आनन-फानन में लौट आए और द्रौपदी मुर्मू के आतिथ्य की तैयारी करने लगे। उन्होंनेआगे बढ़कर उनकी अगवानी की।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, अन्नपूर्णा देवी, अर्जुन राम मेघवाल और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश का खुले दिल से स्वागत किया गया। करीब आधे घंटे तक सभी नेताओं ने बंद कमरे में बात की। फिलहाल झारखंड मुक्ति मोर्चा ने राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए या विपक्षी उम्मीदवार के समर्थन की आधिकारिक घोषणा नहीं की है। लेकिन उनके एनडीए के समर्थन में जाने की पूरी संभावना है।

इस संबंध में हेमंत सोरेन ने दिल्ली जाकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। हालांकि, मोर्चा ने विपक्षी उम्मीदवार के चयन के लिए बुलाई गई बैठक में भाग लिया था। लेकिन जसवंत सिन्हा के नामांकन समारोह से दूरी बनाए रखी।

झारखंड मुक्ति मोर्चा का द्रौपदी मुर्मू की ओर झुकाव को राजनीतिक मजबूती भी कहा जा सकता है। मोर्चा आदिवासी केंद्रित राजनीति करता है। चर्चा यह भी है कि हेमंत सोरेन द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने के बहाने बीजेपी के करीब आना चाहते हैं। इसी के तहत केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ उनकी हालिया मुलाकात को देखा जा रहा है।