Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं सीएम हेमंत सोरेन के घर, बंद कमरे में आधे घंटे तक हुई बात

रांची : राष्ट्रपति चुनाव के लिए सभी दलों के समर्थन के लिए देश का दौरा कर रही एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू सोमवार को रांची पहुंचीं. यहां एनडीए विधायकों और सांसदों से मुलाकात करने के बाद वह मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सरकारी आवास पर पहुंचीं।

यहां उन्होंने मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष शिबू सोरेन से मुलाकात की और उनका समर्थन मांगा. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने उनके स्वागत में पलकें बिछाए। धनबाद में कार्यक्रम समाप्त करने के बाद वे आनन-फानन में लौट आए और द्रौपदी मुर्मू के आतिथ्य की तैयारी करने लगे। उन्होंनेआगे बढ़कर उनकी अगवानी की।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, अन्नपूर्णा देवी, अर्जुन राम मेघवाल और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश का खुले दिल से स्वागत किया गया। करीब आधे घंटे तक सभी नेताओं ने बंद कमरे में बात की। फिलहाल झारखंड मुक्ति मोर्चा ने राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए या विपक्षी उम्मीदवार के समर्थन की आधिकारिक घोषणा नहीं की है। लेकिन उनके एनडीए के समर्थन में जाने की पूरी संभावना है।

इस संबंध में हेमंत सोरेन ने दिल्ली जाकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। हालांकि, मोर्चा ने विपक्षी उम्मीदवार के चयन के लिए बुलाई गई बैठक में भाग लिया था। लेकिन जसवंत सिन्हा के नामांकन समारोह से दूरी बनाए रखी।

झारखंड मुक्ति मोर्चा का द्रौपदी मुर्मू की ओर झुकाव को राजनीतिक मजबूती भी कहा जा सकता है। मोर्चा आदिवासी केंद्रित राजनीति करता है। चर्चा यह भी है कि हेमंत सोरेन द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने के बहाने बीजेपी के करीब आना चाहते हैं। इसी के तहत केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ उनकी हालिया मुलाकात को देखा जा रहा है।