Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में सड़क हादसे में एक बाइक सवार की मौत, दो अन्य घायल||अपहृत डॉक्टर सकुशल बरामद, डालटनगंज में किराये का मकान लेकर छिपा रखे थे अपहरणकर्ता, तीन गिरफ्तार||रांची में पचास हजार का इनामी माओवादी हथियार के साथ गिरफ्तार||गुमला में तेज रफ़्तार का कहर, सड़क हादसे में दो छात्रों की दर्दनाक मौत||रांची: TSPC के इनामी उग्रवादी ने पुलिस के सामने किया सरेंडर||विजय संकल्प महारैली में बोले पीएम मोदी, मोदी की गारंटी पर देश कर रहा भरोसा, अबकी बार 400 पार||पलामू: बेटी की शादी के लिए बैंक से निकाले पैसे, रुपयों से भरा बैग छीनकर लुटेरे हुए फरार||सिंदरी खाद कारखाना चालू कराने का लिया था संकल्प, मोदी की गारंटी हुई पूरी : नरेन्द्र मोदी||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा
Saturday, March 2, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं सीएम हेमंत सोरेन के घर, बंद कमरे में आधे घंटे तक हुई बात

रांची : राष्ट्रपति चुनाव के लिए सभी दलों के समर्थन के लिए देश का दौरा कर रही एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू सोमवार को रांची पहुंचीं. यहां एनडीए विधायकों और सांसदों से मुलाकात करने के बाद वह मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सरकारी आवास पर पहुंचीं।

यहां उन्होंने मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष शिबू सोरेन से मुलाकात की और उनका समर्थन मांगा. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने उनके स्वागत में पलकें बिछाए। धनबाद में कार्यक्रम समाप्त करने के बाद वे आनन-फानन में लौट आए और द्रौपदी मुर्मू के आतिथ्य की तैयारी करने लगे। उन्होंनेआगे बढ़कर उनकी अगवानी की।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, अन्नपूर्णा देवी, अर्जुन राम मेघवाल और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश का खुले दिल से स्वागत किया गया। करीब आधे घंटे तक सभी नेताओं ने बंद कमरे में बात की। फिलहाल झारखंड मुक्ति मोर्चा ने राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए या विपक्षी उम्मीदवार के समर्थन की आधिकारिक घोषणा नहीं की है। लेकिन उनके एनडीए के समर्थन में जाने की पूरी संभावना है।

इस संबंध में हेमंत सोरेन ने दिल्ली जाकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। हालांकि, मोर्चा ने विपक्षी उम्मीदवार के चयन के लिए बुलाई गई बैठक में भाग लिया था। लेकिन जसवंत सिन्हा के नामांकन समारोह से दूरी बनाए रखी।

झारखंड मुक्ति मोर्चा का द्रौपदी मुर्मू की ओर झुकाव को राजनीतिक मजबूती भी कहा जा सकता है। मोर्चा आदिवासी केंद्रित राजनीति करता है। चर्चा यह भी है कि हेमंत सोरेन द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने के बहाने बीजेपी के करीब आना चाहते हैं। इसी के तहत केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ उनकी हालिया मुलाकात को देखा जा रहा है।