Breaking :
||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा||चतरा के पांच अफीम तस्कर हजारीबाग में गिरफ्तार||झारखंड में 4 IPS अफसरों का तबादला, लातेहार SP के पद पर बने रहेंगे अंजनी अंजन, 27 IPS अधिकारियों का मूवमेंट ऑडर जारी||बालूमाथ के चोरझरिया घाटी में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत समेत बालूमाथ की चार खबरें||झारखंड: आग लगने की सूचना पर ट्रेन से कूदे यात्री, झाझा-आसनसोल यात्रियों के ऊपर से गुजरी, 12 की मौत||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं रांची, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में हुईं शामिल, कहा- दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर भारत||झारखंड में बिजली हुई महंगी, नयी दरें एक मार्च से होंगी लागू||झारखंड में बड़े पैमाने पर BDO की ट्रांसफर-पोस्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट
Friday, March 1, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरउत्तरी छोटानागपुरझारखंड

सुरक्षाबलों के साथ नक्सलियों की मुठभेड़, जंगल का लाभ उठाकर भागे नक्सली, सर्च ऑपरेशन जारी

बोकारो : जिले के बेरमो अनुमंडल के अति उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र गोमिया प्रखंड के चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के चुट्टे पंचायत के गिंधौनीय जंगल के चैयताड़ और दंडरा के बीच मंगलवार सुबह नक्सलियों और पुलिस सीआरपीएफ और जगुआर के बीच जमकर मुठभेड़ हुई। हालांकि, मुठभेड़ के बाद नक्सली घने जंगल का फायदा उठा कर भाग खड़े हुए लेकिन नक्सलियों और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ के बाद पुलिस पूरे इलाके में गहन सर्च अभियान चला रही है।

यह मुठभेड़ एरिया कमांडर कुंवर मांझी और जोनल कमांडर बिरसेन उर्फ काना उर्फ चंचल दा के दस्ते और पुलिस बलों के बीच हुई। जंगल के रास्ते में 12 से 14 हथियारबंद नक्सली थे। इस संबंध में बोकारो एसपी प्रियदर्शी आलोक ने बताया कि जोनल कमांडर बिरसेन के दस्ते के जंगल में होने की सूचना मिली थी। इस सर्च अभियान में सीआरपीएफ, जिला पुलिस एवं झारखंड जगुआर की टीम शामिल थी। इसी दौरान सुबह आमना-सामना हुआ और दोनों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के बाद पूरी फोर्स का सर्च अभियान जारी है। उन्होंने कहा कि कितने राउंड गोली चली है, क्या बरामद हुआ है अभी तक पता नहीं चल पाया है। क्योंकि, पूरी टीम सर्च अभियान में लगी हुई है।

उन्होंने कहा कि बोकारो जिले से नक्सलियों के पांव पूरी तरह से उखड़ चुके हैं। जिले में नक्सलियों की पकड़ कमजोर हो गयी है। हताशा में नक्सली अब इस तरह की घटना को अंजाम दे रहे हैं। नक्सली अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिये पुलिस के साथ मुठभेड़ कर रहे हैं।

Bokaro Encounter News Today