Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: नमिता देवी हत्याकांड का खुलासा, चार आरोपी गिरफ्तार

Palamu Namita Murder Case

पलामू : नमिता देवी हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। साथ ही पुलिस ने पुश्तैनी जमीन बिक्री का कमीशन मांगने के बेटे के आरोप को खारिज करते हुए हत्याकांड के पीछे की मामूली वजह भी बतायी है।

एसपी रीष्मा रमेशन ने रविवार को प्रेसवार्ता में बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में भास्कर पांडे उर्फ मोंटी पांडे, रितेश कुमार उर्फ मामा, महताब खान और बबलू कुमार शामिल हैं। एसपी ने बताया कि घटना से तीन-चार दिन पहले नमिता देवी के छोटे पुत्र ऋतिक राज के साथ महताब खान का मामूली विवाद हुआ था। महताब ने बदला लेने के लिए इस घटना को अंजाम दिया। महताब ऋतिक को बड़ा नुकसान देना चाहता था। इस कारण उसकी मां की हत्या की।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

एसपी ने बताया कि महताब ने इस कांड का षड्यंत्र रचते हुए उसे अंजाम देने के लिए रितेश चंद्रवंशी उर्फ मामा, भास्कर पांडे उर्फ मोंटी पांडेय को अपने साथ मिलाया और घटना वाले दिन सदीक चौक से सटे शाहपुर की ओर जाने वाली सड़क में एक होटल में बैठी नमिता देवी से मिलने के बहाने मोंटी और रितेश को भेजा। महताब बाहर में वॉच कर रहा था। बातचीत के क्रम में मोंटी और रितेश ने गोली चला दी लेकिन मोंटी की फायरिंग मिस कर गयी और रितेश की गोली नमिता देवी के सिर में लगी।

दिनदहाड़े हुई इस घटना के बाद इसके खुलासे के लिए डीएसपी मणि भूषण प्रसाद के नेतृत्व में एक टीम बनायी गयी। घटना के तीन दिन के भीतर तीनों मुख्य आरोपियों को पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया। चौथे आरोपी की गिरफ्तारी हत्यारोपियों की मदद करने और उन्हें गाड़ी देकर पलामू से बाहर भेजने के कारण की गयी।

एसपी ने बताया कि मोंटी पांडे और रितेश नमिता देवी की हत्या करने के बाद पैदल कोयल नदी पार करके शाहपुर चैनपुर की ओर भागे थे। शाहपुर के सेमरटॉड में बबलू कुमार ने उनकी मदद की थी। हत्या में इस्तेमाल देसी कट्टा घटना के बाद बोरे में बंद कर जमीन में गाड़कर रख दिया गया था, जिसे चैनपुर थाना क्षेत्र से बरामद किया गया। बरामद हथियारों में दो देसी कट्टा, एक देशी पिस्तौल, 315 बोर का खोखा, 7.65 बोर की गोली, तीन मोबाइल फोन, एक मोटरसाइकिल टीवीएस और एक कार शामिल हैं।

Palamu Namita Murder Case