Breaking :
||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री||JPSC पीटी के मॉडल आंसर को चुनौती देने वाली याचिका हाईकोर्ट में खारिज, परीक्षा का रास्ता साफ||लातेहार: सेरेगड़ा पंचायत सेवक अर्जुन राम रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||झारखंड में चार DSP की ट्रांसफर-पोस्टिंग, समीर कुमार सवैया बने किस्को के DSP||झारखंड कैबिनेट का फैसला, सरकार करायेगी जातिगत गणना, विधायकों का वेतन भत्ता बढ़ा, रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मिलेगी प्रमोशन||झारखंड को नशामुक्त राज्य बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध, हर किसी की सहभागिता जरूरी : मुख्यमंत्री
Friday, June 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: हत्या के आरोपी को आजीवन कारावास व अर्थदंड की सजा

Latehar Latest News Today

लातेहार : प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश अखिल कुमार की अदालत में लंबित सत्र वाद 65/19 की सुनवाई करते हुए हत्या के आरोपी समृत उरांव को हत्या का दोषी पाते हुए आजीवन कारावास और जुर्माने की सजा सुनायी गयी।

प्रभारी लोक अभियोजक अशोक कुमार दास के अनुसार यह घटना 24 अक्टूबर 2018 को गारू थाना क्षेत्र में घटी थी। इस घटना में सरिता नामक महिला के पति की हत्या आरोपियों ने एकतरफा प्यार में कर दी थी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

श्री दास ने बताया कि सरिता नर्सिंग का प्रशिक्षण ले रही थी। इस दौरान आरोपी उससे एकतरफा प्यार करने लगा और उस पर पति को छोड़कर उसके साथ रहने का दबाव बनाने लगा। जब सरिता नहीं मानी तो वह अनिल की हत्या की योजना बनाने लगा और उसे मार डाला।

पुलिस ने मामले की जांच कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और मामले की सुनवाई प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश कुमार की अदालत में चल रही थी। अभियोजन पक्ष की ओर से कुल 10 गवाह पेश किये गये। सभी गवाहों ने हत्याकांड में समृत उरांव की संलिप्तता की बात कही।

दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने समृत को हत्या का दोषी पाया और उसे आजीवन कारावास और 10,000 रुपये जुर्माने की सजा सुनायी। जुर्माना नहीं देने पर 1 साल की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। मालूम हो कि यह मामला काफी चर्चा में रहा था।

Latehar Latest News Today