Breaking :
||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा||चतरा के पांच अफीम तस्कर हजारीबाग में गिरफ्तार||झारखंड में 4 IPS अफसरों का तबादला, लातेहार SP के पद पर बने रहेंगे अंजनी अंजन, 27 IPS अधिकारियों का मूवमेंट ऑडर जारी||बालूमाथ के चोरझरिया घाटी में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत समेत बालूमाथ की चार खबरें||झारखंड: आग लगने की सूचना पर ट्रेन से कूदे यात्री, झाझा-आसनसोल यात्रियों के ऊपर से गुजरी, 12 की मौत||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं रांची, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में हुईं शामिल, कहा- दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर भारत||झारखंड में बिजली हुई महंगी, नयी दरें एक मार्च से होंगी लागू||झारखंड में बड़े पैमाने पर BDO की ट्रांसफर-पोस्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट
Friday, March 1, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरदेश-विदेशराष्ट्रीय

सस्पेंस खत्म मोहन यादव होंगे मध्य प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री

Madhya Pradesh Chief Minister Mohan Yadav

नयी दिल्ली : मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के नाम को लेकर सस्पेंस आखिरकार खत्म हो गया है। राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर मोहन यादव के नाम पर मुहर लग गयी है। बीजेपी विधायक दल की बैठक में उनके नाम पर सर्वसम्मति से मुहर लगा दी गयी। इससे पहले बीजेपी आलाकमान ने मनोहर लाल खट्टर, डॉ. के लक्ष्मण और आशा लाकड़ा को पर्यवेक्षक नियुक्त किया था और उन्हें सीएम चुनने की जिम्मेदारी सौंपी थी। सोमवार को पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में हुई विधायक दल की बैठक में मोहन यादव के नाम पर मुहर लगी।

मोहन यादव उज्जैन दक्षिण विधानसभा सीट से विधायक हैं। सूत्रों के मुताबिक, मध्य प्रदेश में दो उपमुख्यमंत्री भी होंगे। इसके लिए जो दो नाम सामने आ रहे हैं वो हैं जगदीश देवड़ा और राजेश शुक्ला। जगदीश देवड़ा मल्हारगढ़ से और राजेश शुक्ला बिजावर से विधायक हैं। इसके अलावा विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए नरेंद्र सिंह तोमर के नाम की घोषणा की गयी है।

मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों के लिए 17 नवंबर को वोटिंग हुई थी। इसके नतीजे 30 नवंबर को जारी किये गये। नतीजों में बीजेपी भारी बहुमत से जीती। आंकड़ों पर नजर डालें तो बीजेपी को 163 सीटें मिलीं, जबकि कांग्रेस को 66 सीटों से ही संतोष करना पड़ा।

चुनाव जीतने के बाद सबके मन में सवाल था कि राज्य का अगला सीएम कौन होगा? चुनाव जीतने के बाद से ही शिवराज सिंह चौहान लगातार जनता के बीच जा रहे हैं। माताओं-बहनों से मिल रहे थे। उन्होंने यह भी कहा था कि वह मध्य प्रदेश में ही रहेंगे। उन्होंने बार-बार यह भी दोहराया था कि उन्हें पार्टी का हर फैसला स्वीकार होगा। इस बीच विधानसभा चुनाव जीतने वाले बीजेपी सांसदों ने इस्तीफा देकर मामले को और दिलचस्प बना दिया है। इससे माना जा रहा था कि सीएम पद की रेस में शिवराज के अलावा कई दिग्गज हैं।

लंबे इंतजार के बाद पार्टी ने पिछले शुक्रवार को तीनों राज्यों के लिए पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की और उन्हें विधायकों से मुलाकात और सीएम तय करने की जिम्मेदारी सौंपी। इसी बीच कल पार्टी ने छत्तीसगढ़ में आदिवासी समुदाय से आने वाले विष्णुदेव साय को सीएम चुनकर सभी को चौंका दिया। इसके बाद से मध्य प्रदेश को लेकर अटकलें तेज हो गयीं थीं। हालांकि, नतीजों के एक हफ्ते बाद सभी अटकलों और अटकलों पर विराम लगाते हुए पार्टी ने अपना फैसला लिया और मोहन यादव को राज्य का अगला मुख्यमंत्री चुना।

Madhya Pradesh Chief Minister Mohan Yadav