Breaking :
||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे||रांची: TSPC के उग्रवादियों ने एक डीजी समेत पांच वाहनों को फूंका||लातेहार: बालूमाथ में सड़क हादसे में एक बाइक सवार की मौत, दो अन्य घायल||अपहृत डॉक्टर सकुशल बरामद, डालटनगंज में किराये का मकान लेकर छिपा रखे थे अपहरणकर्ता, तीन गिरफ्तार
Saturday, March 2, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: नाबालिग बनी मां, स्वस्थ्य बच्ची को दिया जन्म, 46 वर्षीय पड़ोसी ने किया था दुष्कर्म

पलामू : जिले के नावाजयपुर थाना क्षेत्र की दुष्कर्म पीड़िता ने एक बच्ची को जन्म दिया है। बच्चे को जन्म देने वाली लड़की नाबालिग है। एमआरएमसीएच मेदिनीनगर में नॉर्मल डिलीवरी हुई। जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। एमआरएमसीएच मेदिनीनगर से नाबालिग लड़की और उसके बच्चे को बालिका गृह में रखा जायेगा। नाबालिग लड़की के साथ उसके 46 वर्षीय पड़ोसी ने दुष्कर्म किया था। मामले का खुलासा तब हुआ जब दुष्कर्म पीड़िता गर्भवती हो गयी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

दरअसल, जिले के नावाजयपुर थाना क्षेत्र की 15 वर्षीय पीड़िता अपने पड़ोस में पानी लेने जाती थी। आरोप है कि इसी दौरान 46 वर्षीय पड़ोसी ने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। साथ ही मामले की जानकारी किसी को देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। दुष्कर्म के चार माह बाद पीड़िता गर्भवती हो गयी। इसके बाद उन्होंने घटना की जानकारी परिजनों को दी। उधर, सूचना मिलने के बाद पीड़िता के पिता ने नावाजयपुर थाने में आवेदन देकर आरोपी के खिलाफ पॉक्सो और दुष्कर्म की गंभीर धाराओं में प्राथमिकी दर्ज करायी है।

पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। आरोपी अभी जेल में है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ जांच करते हुए कोर्ट में फाइनल चार्जशीट भी दाखिल कर दी है। दुष्कर्म की प्राथमिकी के बाद से पीड़िता बालिका गृह में रह रही थी। प्रसव पीड़ा के बाद नाबालिग को एमआरएमसीएच में भर्ती कराया गया, जहां उसने एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया।

नवजात बच्ची का कराया जायेगा DNA टेस्ट

पुलिस नवजात का डीएनए टेस्ट भी कराएगी। जच्चा-बच्चा को बाल कल्याण समिति की निगरानी में रखा जायेगा। इस संबंध में जिला बाल संरक्षण अधिकारी प्रकाश कुमार ने बताया कि जच्चा-बच्चा के स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है। 18 साल पूरे होने के बाद पीड़िता बच्चे के बारे में फैसला लेगी। पलामू जिले की यह तीसरी घटना है, जब कोई नाबालिग मां बनी है।

Palamu crime news today