Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

लातेहार जिले के पत्रकारों की बैठक, लगातार हो रहे हमले की निंदा, कार्रवाई नहीं होने पर चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी

reporters meeting at latehar

लातेहार : जिला खेल स्टेडियम परिसर में गुरुवार को वरिष्ठ पत्रकार मनीष उपाध्याय की अध्यक्षता में जिले के पत्रकारों की बैठक हुई। बैठक में सबसे पहले पंचायत सेवक नागेश्वर रजक के पुत्र नागमणि कुमार द्वारा स्थानीय पत्रकार पंकज प्रसाद एवं बालूमाथ के पत्रकार सुरेंद्र गुप्ता पर किए गए जानलेवा हमले की घटना एवं चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह द्वारा आरोपी को रिहा करने के लिए की गई पैरवी की निंदा की गई।

वहीं सदर थाना पुलिस द्वारा पत्रकार पंकज प्रसाद पर हमला करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर छोड़ दिए जाने की घटना की भर्त्सना की गई।

बैठक में कहा गया कि पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमले चिंता का विषय है। घटना के बाद जब पीड़ित पत्रकार द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी जाती है, तो पुलिस आरोपी को पकड़ कर छोड़ दे रही है। जिससे अवसरवादी लोगों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं।

बैठक में सर्वसम्मति से जिले के पत्रकारों की सुरक्षा की मांग को लेकर उपायुक्त अबु इमरान से मिलने, पुलिस द्वारा दो दिनों के भीतर पीड़ित दोनों पत्रकार के आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल नहीं भेजने पर चरणबद्ध आंदोलन करने समेत कई निर्णय लिए गए।

साथ ही कहा गया कि अगर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो पत्रकार के आंदोलन की सारी जिम्मेदारी जिला और पुलिस प्रशासन की होगी।

बैठक में वरीय पत्रकार सुनील कुमार, संजय तिवारी, आशीष टैगोर, संजीत गुप्ता, चंद्रप्रकाश सिंह, बद्री प्रसाद, उत्कर्ष पांडेय, राजीव मिश्रा, नवीन मिश्रा, योगेश प्रसाद, अजय सिन्हा, नीरज सिन्हा, मनोज दत्त, बीरेंद्र प्रसाद, पंकज प्रसाद, रूपेश कुमार, विवेक सिन्हा, विभूतिनाथ सिंह, रौशन कुमार, रामकुमार, नीतीश भारती, डिंपल कुमार, दीपक मिश्रा, संतोष कुमार सिंह समेत कई पत्रकार मौजूद थे।

https://www.facebook.com/newssenselatehar

https://thenewssense.in/category/latehar


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *