Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

लातेहार: तुबेद कोल माइंस के प्रभावित रैयतों व कंपनी के अधिकारियों की बैठक, दस सूत्री मांगों पर चर्चा

लातेहार : सदर प्रखड स्थित तुबेद कोल माइंस के प्रभावित रैयतों व डीवीसी कंपनी के अधिकारियों की एक बैठक शनिवार को डीही पंचायत सचिवालय में हुई। बैठक की अध्यक्षता मुखिया संदीप उरांव ने की। बैठक में डीवीसी कंपनी के ईडी माइनिंग सुधीर मुखर्जी व एसी माइनिंग मनीष कुमार उपस्थित थे।

बैठक में रैयतों के दस सूत्री मांगों पर चर्चा हुई। जिसमें रैयतों ने कहा कि यदि कंपनी हमारी दस सूत्री मांगों पर विचार करती है तो हमलोग कंपनी को हर संभव सहायता करने के लिए तैयार हैं।

रैयतों ने कहा कि कंपनी को अपने पुराने रवैये को छोड़ना होगा और रैयतों से मिल कर उनकी समस्याओं को सुने। दलाल व बिचौलियों के चक्कर में न पड़े, तभी इस क्षेत्र में कोल माइंस खुल पायेगा।

आगे कहा कि कंपनी रैयतों के प्रतिनिधि व पंचायत प्रतिनिधि मंडल के साथ मिलकर प्रभावित स्थल पर भूमि का सत्यापन कराये। ताकि रैयतों को कार्यालयों का चक्कर नहीं लगाना पड़े। हाल सर्वे की खामियों को दूर कर जोत-कोड़ व कब्जा के हिसाब से भूमि का भुगतान करे।

रैयतों ने कहा कि कंपनी भेदभाव को छोड़ कर सभी को एक समान भुगतान करे। भूदान की जमीन को पंचायत प्रतिनिधिमंडल से सत्यापन कराकर भुगतान किया जाय। गैर मजरूआ, वन भूमि व बिहार सरकार हाल सर्वे रिपोर्ट की खामियों को दूर कर असली रैयतों को चिन्हित कर भुगतान किया जाय।

बैठक में विस्थापन, पुनर्वास, पेयजल व नौकरी समेत कई अन्य मामलों पर चर्चा की गयी। अंत में सभी दस प्रस्ताव को पढ़कर सुनाया गया। जिसपर कंपनी के अधिकारियों ने हस्ताक्षर करते हुए कहा कि कंपनी सभी मामलों पर सहमत है।

बैठक में कांग्रेस के मीडिया प्रभारी पंकज तिवारी, उमर आलम, बॉबी हुसैन, सुजीत सिंह, मनोज सिंह, लालधारी उरांव, राजेश भुइयां, गोविन्द भुइयां, रहमतुल्ला अंसारी समेत कई रैयत व ग्रामीण उपस्थित थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *