Breaking :
||रांची में बाइक सवार बदमाशों ने पति-पत्नी को मारी गोली, दोनों की मौत||TSPC के जोनल कमांडर ने किया बड़ा खुलासा, झारखंड में हिंसा फैलाने के लिए खरीद रहा था विदेशी हथियार||भारत-इंग्लैंड टेस्ट मैच को लेकर बल्लेबाज शुबमन गिल ने पत्रकारों से कहा- रांची में ही सीरीज जीतने के लिए हम तैयार||पलामू: बच्चों को आशीर्वाद देने निकले किन्नरों से मारपीट, आक्रोश||झारखंड: प्रेमी ने शादी से किया इंकार तो प्रेमिका ने दे दी जान||गढ़वा: JJMP के उग्रवादियों ने पुल निर्माण स्थल पर मचाया उत्पात, मशीनों में की तोड़फोड़, मजदूरों से मारपीट||झारखंड विधानसभा का बजट सत्र 23 फरवरी से, स्पीकर ने की उच्च स्तरीय बैठक||विधायक भानु प्रताप शाही एससी-एसटी एक्ट में बरी, चार लोगों को छह-छह माह कारावास की सजा||रांची पहुंची भारत और इंग्लैंड की टीमें, पारंपरिक अंदाज में हुआ स्वागत||लातेहार: ईंट भट्ठा पर फायरिंग कर अपराधियों ने फैलायी दहशत, कर्मियों को पीटा, संचालक को दी चेतावनी
Thursday, February 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: माओवादियों ने सड़क निर्माण में लगे आठ वाहनों को फूंका, सर्च अभियान तेज

Palamu Naxali Hamla News

पलामू : प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने छह साल बाद अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करायी है। छतरपुर और हुसैनाबाद जिले की सीमा से सटे छतरपुर थाना क्षेत्र के हरदिया घाटी में एक साथ आठ वाहनों को जलाकर नयी एसपी रिष्मा रमेशन को चुनौती दी गयी है। घटना के बाद निर्माण कार्य बंद हो गया है और मजदूरों में दहशत का माहौल है।

2017-18 में कराया था बारूदी सुरंग विस्फोट

बता दें कि इससे पहले वर्ष 2017-18 में माओवादियों ने हुसैनाबाद के तत्कालीन थाना प्रभारी राजेश प्रसाद रजक की टीम को बारूदी सुरंग विस्फोट कर उड़ा दिया था। इस घटना में कई पुलिस जवानों की मौत हो गयी थी, जबकि कुछ जख्मी भी हुए थे। उस घटना के बाद इस इलाके में माओवादियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है।

घटना के बाद डीजीपी ने किया था दौरा

2017-18 की इस घटना के बाद झारखंड के पुलिस महानिदेशक के द्वारा इस क्षेत्र का जायजा लिया गया था और सड़क निर्माण की जरूरत पर बल दिया गया था। डीजीपी ने इस संबंध में मुख्य सचिव को पत्र लिखकर सड़क निर्माण कराने का आग्रह किया था। इस आलोक में सड़क निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गयी और निर्माण कार्य शुरू हुआ। इसके लिए हुसैनाबाद के महुदंड में पुलिस पिकेट की स्थापना हुई थी।

घटना के बाद मौके पर पहुंची एसपी रिष्मा रमेशन

घटना के बाद मौके पर पहुंची एसपी रिष्मा रमेशन ने करीब एक से डेढ़ घंटे तक घटनास्थल का जायजा लिया। इस क्रम में जब कुछ पत्रकार मौके पर कवरेज के लिए पहुंचे तो उन्हें घटनास्थल पर जाने से रोक दिया गया। हालांकि बाद में कुछ पत्रकार कवरेज के लिए मौके पर पहुंच गये और कवरेज किया। घटनास्थल के बाद एसपी छतरपुर थाना पहुंची और कई घंटे तक छतरपुर, हुसैनाबाद के अलावा अन्य थाना पुलिस के साथ बैठक की। बैठक में छतरपुर और हुसैनाबाद के एसडीपीओ क्रमशः अजय कुमार और पूज्य प्रकाश भी थे। एसपी ने बैठक में नक्सलियों के खिलाफ अभियान तेज करने का निर्देश दिया। उन्होंने छतरपुर, हुसैनाबाद, पांडू, हैदरनगर, मोहम्मदगंज, पिपरा, नावाबाजार एवं हरिहरगंज के सीमावर्ती इलाके को सील कर कार्रवाई करने की बात कही।

ये वाहन जलकर हुए क्षतिग्रस्त

नक्सलियों ने आठ वाहननों को जलाकर क्षतिग्रस्त किया है। इन वाहनों में तीन हाइवा, एक लोडर, एक टैक्टर, एक ग्रेडर, एक बाइक और एक मिक्सचर मशीन शामिल है। वाहनों को जलाने के लिए माओवादी अपने साथ डब्बे में भरकर पेट्रोल लेकर आये थे। साथ ही जूट की बोरी भी साथ में लाया था। शाम 4.20 बजे घटनास्थल पर दस्तक देने के बाद करीब डेढ़ घंटे तक माओवादियों का दस्ता यहां जमा रहा और अंत में माओवादी जिंदाबाद के नारे लगाते हुए निकल गया।

13 किलोमीटर बन रही है सड़क

जिस सड़क पर आगजनी हुई, उसका निर्माण किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से कालापहाड़-महुदंड रोड 13.6 किलोमीटर तक बनायी जा रही है। करीब 40 प्रतिशत सड़क का निर्माण हो चुका है। इस सड़क में लगे वाहन शाम 5 बजे तक निर्माण कार्य करते थे और फिर लठैया पिकेट में लग जाते थे। यही कारण है कि माओवादियों ने इस घटना को चार बजे के आसपास अंजाम दिया। इस घटना से संवेदक को करोड़ो का नुकसान हुआ है।

सुदूरवर्ती क्षेत्र है हरदिया घाटी

जिस जगह पर माओवादियों ने अग्निकांड को अंजाम दिया वह इलाका काफी सुदूरवर्ती है। छतरपुर से जहां 20 किलोमीटर दूर है, वहीं हुसैनाबाद से 18 किलोमीटर और पांडू से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। घटनास्थल पर पहुंचने के बाद नक्सलियों ने सबसे पहले आग लगायी और फिर वहां मौजूद मुंशी बबलू पटेल, विजय यादव एवं एक हाइवा मालिक को कब्जे में लेकर उनकी पिटायी भी की। सड़क का निर्माण स्वास्तिक इंटरप्राइजेज नामक कंपनी करा रही है। इसके संवेदक अजीत सिंह ने बताया कि कुछ माह पहले धमकी भरा फोन आया था। इसे हल्के में लिया, जिससे बड़ा नुकसान उठाना पड़ा।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

Palamu Naxali Hamla News