Breaking :
||झारखंड में पांचवें चरण का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, आचार संहिता उल्लंघन के सात मामले दर्ज||लातेहार में शांतिपूर्ण माहौल में मतदान संपन्न, 65.24 फीसदी वोटिंग||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश
Tuesday, May 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू में माओवादियों ने लगाये चुनाव बहिष्कार के पोस्टर

Palamu Maoists Election Boycott Posters

पलामू : जिले में लोकसभा चुनाव 13 मई में को है, लेकिन उससे पहले ही प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के जरिये चुनाव बहिष्कार को लेकर पोस्टरबाजी की जा रही है। जिले के चार प्रखंड क्षेत्र में माओवादियों की ओर से चुनाव बहिष्कार को लेकर बुधवार रात पोस्टरबाजी की गयी है। इन पोस्टरों के माध्यम से आम जनता को कई तरह की जानकारी दी गयी है और व्यवस्था पर सवाल उठाया गया है। सूचना मिलने पर गुरुवार सुबह पुलिस ने सभी जगह से पोस्टर हटा दिया है। एक साथ चार प्रखंड क्षेत्र में पोस्टर लगाये जाने से ग्रामीणों में वोटिंग को लेकर दहशत का माहौल है।

माओवादियों की ओर से जिले के हुसैनाबाद, हैदरनगर, मोहम्मदगंज और पांडू प्रखंड क्षेत्र में कई जगहों पर पोस्टरबाजी की गयी है, जिन इलाकों में पोस्टर लगाये गये हैं वह क्षेत्र काफी सुदूरवर्ती हैं और नक्सलियों का कभी इन इलाकों में गहरा प्रभाव रहा था। सारे प्रखंड क्षेत्र एक दूसरे से सटे हुए हैं। ऐसे में माओवादियों को इन इलाकों में पोस्टरबाजी करने में आसानी हुई।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

माओवादियों की ओर से हैदरनगर प्रखंड क्षेत्र के बरेवा आंगनबाड़ी केंद्र और पैक्स गोदाम पर पोस्टर लगाया गया। इसी तरह भदुवा, लोहरपुरा स्कूल भवन पर पोस्टर लगा मिला है। पांडू प्रखंड क्षेत्र में भी पोस्टरबाजी की गयी। हुसैनाबाद के महुदंड, मोहम्मदगंज के माहुर आदि क्षेत्रों में भी पोस्टर लगा मिला है। यह सारे इलाके 20 किलोमीटर एरिया में है। छह से अधिक जगह पर पोस्टरबाजी की गयी है। सूचना मिलने पर पुलिस सारे जगह से पोस्टर हटाते हुए कार्रवाई में जुटी हुई है। ग्रामीणों को भरोसा दिलाया जा रहा है कि पुलिस उन्हें सुरक्षा देने में सक्षम है और पोस्टर बाजी से वह भयभीत न हो। कुछ जगहों पर पोस्टर लगा देखकर ग्रामीणों के द्वारा जानकारी दी गयी।

माओवादियों के जरिये लगाये गये हस्तलिखित पोस्टर में 18 वीं लोकसभा चुनाव को बहिष्कार करने, जनता की नयी जनवादी राज कायम करने, वोट के जरिये केवल सरकार का रंग बदलता है। शोषण और शासन बंद नहीं होता है। चुनाव के जरिये सरकार बदलकर जनता की एक भी बुनियादी समस्या का हल नहीं होता है। ब्राह्मणीय- हिंदुत्व- फासीवाद राज को ध्वस्त करो, जनता की जनवादी राज स्थापित करो, जल, जंगल, जमीन पर अपना हक कायम करना है तो मजदूर किसानों का अपना राज बनाना होगा। वोट बहिष्कार करें। पुलिसिया राज ध्वस्त करें। जनता की नयी जनवादी राज स्थापित करें। भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था बनाना है तो मौजूदा भ्रष्ट व्यवस्था को ध्वस्त कर क्रांतिकारी जन कमेटी जनताना सरकार (आरपीसी) का निर्माण करें। एनआरसी, सीसीए, एनपीआर, नई कृषि बिल, नए श्रम कानून एवं नयी शिक्षा नीति से मुक्ति पाना है तो वोट का बहिष्कार करें। सौ चूहा खाकर बिल्ली चली हज करने वाली कहावत को मोदी सरकार, आरएसएस चरितार्थ कर रही है। आम जनता सावधान रहें।

Palamu Maoists Election Boycott Posters