Breaking :
||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस
Friday, June 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार में 10 लाख के इनामी माओवादी जोनल कमांडर ने किया सरेंडर, 20 वर्षों से छकरबंधा व बूढ़ा पहाड़ में था सक्रिय

Latehar Maoist Surrender News

लातेहार : झारखंड सरकार के आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति ‘नई दिशा’ से प्रभावित होकर दस लाख के ईनामी भाकपा माओवादी के जोनल कमांडर कल्टू उर्फ मोजिंदर उर्फ लालदीप गंझू उर्फ कार्तिक गंझू (32) पिता भोला गंझू (जावाबार, लेवडाही, बालूभांग, बारियातू, लातेहार) ने शनिवार को पलामू आईजी राजकुमार लकड़ा व लातेहार एसपी अंजनी अंजन के समक्ष सरेंडर कर दिया। कल्टू के इस निर्णय का पुलिस ने फूलों से स्वागत किया।

Latehar Maoist Surrender News

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मौके पर एसपी अंजनी अंजन ने कहा कि सीआरपीएफ, कोबरा, झारखंड जगुवार व जिला पुलिस के द्वारा नक्सलियों के विरुद्ध लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान पुलिस को कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां भी मिली हैं। पुलिसिया दबिश से विभिन्न नक्सली संगठन के कई शीर्ष नेताओं ने सरेंडर कर दिया है। इसी कड़ी में पुलिस द्वारा चलाये जा रहे जागरूकता अभियान से प्रभावित होकर कल्टू ने हिंसा का रास्ता छोड़कर पुलिस के सामने सरेंडर किया है। कल्टू ने जंगल में भटक रहे अपने अन्य साथियों से भी हथियार छोड़ पुलिस के सामने सरेंडर करने की अपील की है। एसपी ने बताया कि सरेंडर करने वाला माओवादी जोनल कमांडर कल्टू छकरबंधा व बूढ़ा पहाड़ इलाके में 20 वर्षों से सक्रिय था।

एसपी ने बताया कि माओवादी जोनल कमांडर कल्टू उर्फ मोजिंदर के खिलाफ कुल आठ आपराधिक मामले दर्ज हैं। वह छकरबंधा और बूढ़ा पहाड़ में मनोहर गंझू, छोटू खरवार, चंदन सिंह खरवार, कुंदन सिंह खरवार आदि के साथ काम किया है। 2004 में माओवादी अजय यादव के दस्ते में शामिल हुआ था। तब से वह कई घटनाओं को अंजाम दे चुका है। उसके खिलाफ औरंगाबाद में छह, बालूमाथ व गारू थाने में एक-एक आपराधिक मामले दर्ज हैं।

सरेंडर करने के बाद जोनल कमांडर कल्टू उर्फ मोजिंदर उर्फ लालदीप गंझू ने मीडिया को बताया कि वह मुख्यधारा में लौटकर अपने परिवार के साथ खेती बारी करके अपना जीवन यापन करना चाहता है। उसने बताया कि गांव में भाकपा माओवादियों का आना-जाना लगा रहता था। इसी क्रम में 13 से 14 साल की उम्र में वह माओवादी दस्ते में शामिल हुआ था। शीर्ष माओवादी नेता सुधाकरण, नकुल और दिनेश के आत्मसमर्पण से प्रभावित होकर उसने भी आत्मसमर्पण किया है। कल्टू ने मुख्यधारा से भटके अपने साथियों से आत्मसमर्पण कर सरकार की नीतियों का लाभ उठाने की अपील की है।

Latehar Maoist Surrender News