Breaking :
||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस
Saturday, June 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

Jharkhand News: ED की रडार पर शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो समेत कई IAS और IPS अधिकारी, मांगी रिपोर्ट

रांची : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने झारखंड में मनी लॉन्ड्रिंग को लेकर अपनी जांच का दायरा बढ़ा दिया है। कोलकाता के कारोबारी अमित अग्रवाल से पूछताछ के बीच अब ईडी ने सूबे के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो तथा उनके पीए पवन कुमार, पूर्व आईएएस केके खंडेलवाल, दिलीप झा, गिरिडीह एसपी अमित रेणू और गिरिडीह एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह समेत कुछ कारोबारियों की जानकारी राज्य पुलिस मुख्यालय से मांगी है। ईडी की ओर से जानकारी मांगे जाने के बाद आईजी मानवाधिकार ने सीआईडी से संबंधित लोगों पर दर्ज केस, आरोप पत्र व शिकायत का ब्योरा मांगा है। पुलिस मुख्यालय से रिपोर्ट भेजे जाने के बाद ईडी आगे की कार्रवाई करेगी।

मनी लॉन्ड्रिंग में संलिप्तता

ईडी के डिप्टी डायरेक्टर विनोद कुमार ने राज्य पुलिस मुख्यालय को पत्र लिखकर जानकारी मांगी है कि शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो, उनके पीए पवन कुमार से जुड़े मामले की जानकारी उपलब्ध करायी जाए। ईडी को शिकायत मिली है कि पद पर रहते हुए इसका दुरूपयोग कर शिक्षा मंत्री व उनके पीए ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित की है। इनकी मनी लॉन्ड्रिंग में संलिप्तता है।

झामुमो के एक और विधायक ईडी की रडार पर

शिकायत मिलने के बाद इस संबंध में पीएमएलए की धाराओं के तहत राज्य पुलिस मुख्यालय से जानकारी मांगी गई है। वहीं ईडी के रडार पर झामुमो के दूसरे विधायक सुदिव्य कुमार सोनू भी हैं। ईडी को शिकायत मिली है कि गिरिडीह के एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह धनशोधन की गतिविधियों में सुदिव्य के साथ लिप्त हैं। उन्होंने पद का दुरूपयोग करते हुए कई जगह पर संपत्ति खरीदी है। वे शेल कंपनियां बना मनी लॉन्ड्रिंग में संलिप्त रहे हैं।

धनबाद एसएसपी के खिलाफ भी मिली शिकायत

कोयला क्षेत्र में धनबाद के एसएसपी संजीव कुमार और गिरिडीह में अमित रेणू के खिलाफ ईडी को शिकायत मिली थी। ईडी की शिकायत में धनबाद एसएसपी पर आरोप लगाया गया है कि जिले के मुगमा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर कोयला तस्करी हो रही है। धनबाद में कोयला चाल धंसने से मौत की वजह तस्करी बतायी गई है। साथ ही फरवरी माह में हुए वारदातों को उदाहरण के तौर पर बताया गया है।

गिरिडीह के एसपी अमित रेणू पर भी पद के दुरूपयोग का आरोप

गिरिडीह के एसपी अमित रेणू पर भी पद का दुरूपयोग करते हुए अपने व अपने परिजनों के नाम पर संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाते हुए पीएलएमए के तहत जांच की मांग की गई है। बीसीसीएल के सीनियर मैनेजर बीएन बेहरा, चीफ विजिलेंस अफसर अनिमेष कुमार से जुड़े मामले में भी ईडी ने जानकारी मांगी है। दुमका के हरिनंदन चौधरी, बालू के कारोबार से जुड़े मनीष यादव से जुड़े केस या आरोप पत्र की जानकारी भी इडी ने मांगी है।

कई बड़े आईएस व आईपीएस अधिकारियों की मांगी रिपोर्ट

ईडी ने शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो, उनके पीए पवन कुमार के अलावा झारखंड के पूर्व अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल, पाकुड़ के पूर्व डीसी दिलीप झा, गिरिडीह के एसपी अमित रेणू, एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह के अलावा राज्य के कई अन्य अधिकारियों और कारोबारियों के बारे में भी पुलिस मुख्यालय से जानकारी मांगी है।

साहिबगंज डीएमओ की फिर मांगी रिपोर्ट

साहिबगंज में अवैध खनन को लेकर ईडी ने वहां के डीएमओ विभूति कुमार को लेकर रिपोर्ट मांगी है। विभूति के बारे में बताया गया है कि वह अवैध खनन के बाद स्टोन चिप्स के परिवहन में संलिप्त रहे हैं। वहीं कई क्रशर लीज में अनियमितता कर भी विभूति ने करोड़ों की कमायी की। इसके बाद अपने व अपने परिवार के नाम पर कई जगहों पर संपत्ति अर्जित की। वहीं साहिबगंज में ही शिवशक्ति स्टोन वर्क्स में काम के दौरान एक मजदूर करुणा शाह की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस से पूरी कार्रवाई रिपोर्ट, जांच से जुड़े कागजातों की मांग की गई है। आठ मई 2020 को करूणा शाह की मौत शिवशक्ति स्टोन वर्क्स में हुई थी।