Breaking :
||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश||पलामू: हार्डकोर इनामी माओवादी नीतेश के दस्ते का सक्रिय सदस्य गिरफ्तार||लातेहार: 65 हेली ड्रॉपिंग बूथ के लिए शुभकामनायें लेकर मतदान कर्मी रवाना
Monday, May 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड में फिर से नोट गिनने के लिए मशीनों का किया गया इस्तेमाल, इनकम टैक्स की छापेमारी में दो करोड़ बरामद

रांची : झारखंड कांग्रेस के दो विधायकों और उनके सहयोगियों समेत कुछ कारोबारियों के यहां छापेमारी कर आयकर विभाग ने 100 करोड़ रुपये से अधिक के बेनामी लेनदेन और निवेश का खुलासा किया है।

सीबीडीटी ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि चार नवंबर को झारखंड के रांची, गोड्डा, बेरमो, दुमका, जमशेदपुर, चाईबासा, बिहार के पटना, हरियाणा के गुरुग्राम, पश्चिम बंगाल के कोलकाता समेत 50 स्थानों पर छापेमारी की गयी। आयकर अधिकारियों ने छापेमारी के दौरान दो करोड़ रुपये की नकदी भी बरामद की, जिनकी गिनती मशीनों से की गयी।

आयकर ने कांग्रेस के दो विधायकों के ठिकानों पर छापेमारी की थी, जिनकी पहचान अधिकारियों ने कुमार जयमंगल उर्फ ​​अनूप सिंह और प्रदीप यादव के रूप में की थी। बेरमो सीट से विधायक जयमंगल ने रांची स्थित अपने आवास के बाहर मीडिया से बात करते हुए भी कार्रवाई की पुष्टि की और कहा कि वह जांच में सहयोग कर रहे हैं। जेवीएम से अलग होने के बाद प्रदीप यादव कांग्रेस में शामिल हो गए। कांग्रेस वर्तमान में झामुमो के साथ सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा है, जिसका नेतृत्व हेमंत सोरेन कर रहे हैं।

सीबीडीटी ने एक बयान में कहा कि लौह अयस्क खनन, लौह उत्पादन, कोयले के व्यापार, परिवहन और अनुबंध में शामिल कुछ व्यापारिक समूहों के खिलाफ यह कार्रवाई की गयी है। सीबीडीटी ने कहा कि जिनके परिसरों की तलाशी ली गयी, उनमें से दो राजनीतिक रूप से संबंधित और उनके सहयोगी हैं। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड आयकर विभाग के लिए नीति बनाने वाला निकाय है।

सीबीडीटी ने कहा कि दो करोड़ रुपये से अधिक नकद भी बरामद किया गया है और अब तक 100 करोड़ से अधिक बेनामी लेनदेन और निवेश का पता चला है। छापेमारी में बड़ी संख्या में दस्तावेज और डिजिटल साक्ष्य भी मिले हैं। सीबीडीटी ने कहा, ‘इन सबूतों के प्राथमिक विश्लेषण से पता चलता है कि इन समूहों ने कर चोरी के लिए कई तरह के रास्ते अपनाए हैं।

जयमंगल ने अगस्त में अपनी पार्टी के तीन विधायकों इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगाड़ी के खिलाफ पुलिस शिकायत दर्ज करायी थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि वे झारखंड में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार को गिराने की साजिश कर रहे हैं।

जुलाई में पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के तीन विधायकों को नकदी के साथ गिरफ्तार किए जाने के बाद शिकायत दर्ज की गयी थी। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजीव रंजन ने छापे के दिन आरोप लगाया था कि कर विभाग की कार्रवाई गैर-भाजपा शासित राज्यों में सरकारों को अस्थिर करने के अभियान का हिस्सा है।