Breaking :
||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश||पलामू: हार्डकोर इनामी माओवादी नीतेश के दस्ते का सक्रिय सदस्य गिरफ्तार||लातेहार: 65 हेली ड्रॉपिंग बूथ के लिए शुभकामनायें लेकर मतदान कर्मी रवाना
Monday, May 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत

जिला प्रशासन से तत्काल मदद की अपील

लातेहार : सदर प्रखंड के पेशरार पंचायत के होसीर गांव के गोरीखांड़ टोला में धानरोपणी कर रहे पति-पत्नी की बिजली गिरने से मौत हो गयी।

मृतक पति-पत्नी की पहचान होसीर गांव निवासी जगलाल उरांव और सविता देवी के रूप में हुई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि पति-पत्नी दोनों गोरीखांड़ टोला स्थित अपने खेत में धानरोपणी का काम कर रहे थे। इसी बीच गरज के साथ बारिश होने लगी। बारिश के दौरान अचानक वज्रपात हुई, जिसकी चपेट में पति-पत्नी दोनों आ गए, जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

घटना के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि उनके दो छोटे बच्चे हैं। एक छह साल का है जबकि दूसरा नौ साल का है। घर में कोई सदस्य नहीं है जो इन्हें अस्पताल ले जा सके।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

ग्रामीणों ने प्रशासन से गुहार लगाते हुए कहा कि प्रशासन द्वारा वाहन की व्यवस्था की जाती तो उन्हें अस्पताल ले जाया जाता। ताकि उनका पोस्टमॉर्टम समय से हो सके। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से तत्काल मदद की अपील की है।

ग्रामीणों ने अनाथ बच्चों के भरण-पोषण और पीड़ित परिवार को मुआवजे देने की मांग की है। घटना के बाद गांव में मातम का माहौल है। समाचार लिखे जाने तक दोनों के शव खेत में ही पड़े थे।