Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: नाबालिग लड़की से सामूहिक दुष्कर्म के तीन आरोपियों को आजीवन कारावास व जुर्माना

लातेहार : पोक्सो की विशेष अदालत जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वितीय अमित कुमार की अदालत ने किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म के तीन आरोपियों को आजीवन कारावास और 25-25 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी है। मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने जेल में बंद तीनों आरोपियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पेश किया और फैसला सुनाया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पॉक्सो कोर्ट के विशेष लोक अभियोजक अशोक कुमार दास ने बताया कि चंदवा थाना कांड संख्या 110/20 के तीन आरोपियों बाल किशोर उरांव, मोहन देव उरांव और मनीष महतो ने चंदवा की 15 वर्षीया पीड़िता को घर जाने से रोकने पर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था। जब वह कुछ सामान खरीदने के लिए दुकान पर जा रही थी तो तीनों आरोपियों ने उसे रास्ते से पकड़ लिया और बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म किया। इस मामले में आईपीसी की धारा 376 डी और 4/6/8 पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। अभियोजन पक्ष की ओर से कुल 9 गवाह कोर्ट में पेश किये गये। मामले की सुनवाई के बाद अदालत ने आरोपियों को भारतीय दंड संहिता की धारा 376 डी और 4/6/8 पॉक्सो एक्ट के तहत दोषी पाया और उन्हें आजीवन कारावास और 25-25 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी।

मालूम हो कि तीनों आरोपी साल 2020 से जेल में थे। POCSO कोर्ट के विशेष लोक अभियोजक दास ने कहा कि इस फैसले से पीड़ित पक्ष को काफी राहत मिली है। उन्होंने इस मामले में स्पीडी ट्रायल चलाकर अपराधियों को सजा दिलायी है।