Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे लातेहार विधायक बैद्यनाथ राम

बालूमाथ में अस्पताल बनाने की मांग

रांची : झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन शुक्रवार को झामुमो विधायक बैद्यनाथ राम विधानसभा के मुख्य द्वार पर अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गये।

सरकार केवल दे रही आश्वासन : बैद्यनाथ राम

उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य की बात है कि सरकार केवल आश्वासन दे रही है। वे पिछले तीन साल से लातेहार जिले के बालूमाथ में अस्पताल बनाने की मांग कर रहे हैं। सदन में भी यह मुद्दा कई बार उठाया गया।

सदन में कई बार उठाया मुद्दा, नहीं हुई कार्रवाई : बैद्यनाथ राम

मुख्यमंत्री से मुलाकात कर भी इस बात को रखा, लेकिन कोई काम नहीं हुआ। बैद्यनाथ राम ने कहा कि अस्पताल नहीं बना लेकिन एक करोड़ 25 लाख का घोटाला जरूर हुआ। यह मामला सदन में भी उठा लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने साफ़-साफ कहा कि सरकार कोई भी हो वह पहले लातेहार के विधायक हैं, क्षेत्र की जनता का विकास उनकी पहली जिम्मेदारी है और इसके लिए वे लोकतांत्रिक तरीके से आवाज उठाते रहेंगे।

स्वास्थ्य मंत्री की बातों पर भरोसा नहीं : बैद्यनाथ राम

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता धरने पर बैठे विधायक बैद्यनाथ राम से मिलने पहुंचे। स्वास्थ्य मंत्री बार-बार पत्रकारों के सामने विधायक को आश्वासन देते रहे लेकिन बैद्यनाथ राम ने मंत्री से बात तक नहीं की। बैद्यनाथ राम ने कहा कि मुझे स्वास्थ्य मंत्री की बातों पर भरोसा नहीं है। मुख्यमंत्री से शिकायत करेंगे।

भाजपा विधायकों ने सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

दूसरी ओर, भाजपा विधायकों ने विधानसभा के मुख्य द्वार पर झारखंड सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और विरोध प्रदर्शन किया। बीजेपी विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि हेमंत सरकार रोजगार के बहाने बनी, लेकिन झारखंड के युवाओं को तीन साल में रोजगार नहीं मिला। उन्होंने कहा कि पहले से जिसे रोजगार मिला था उसे भी इस सरकार ने छीनने का काम किया। पोषण सखी का मामला सबके सामने है। इसी तरह गलत नियोजन नीति बनाकर इस सरकार ने युवाओं को ठगने का काम किया है।

झारखंड में बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं : नीरा यादव

बीजेपी विधायक नीरा यादव ने कहा कि झारखंड में बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। जब यह मामला उठता है तो मुख्यमंत्री का बयान आता है कि ऐसी घटनाएं कहां नहीं होतीं। मुख्यमंत्री का यह बयान उनकी संवेदनशीलता को दर्शाता है।