Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे लातेहार विधायक बैद्यनाथ राम

बालूमाथ में अस्पताल बनाने की मांग

रांची : झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन शुक्रवार को झामुमो विधायक बैद्यनाथ राम विधानसभा के मुख्य द्वार पर अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गये।

सरकार केवल दे रही आश्वासन : बैद्यनाथ राम

उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य की बात है कि सरकार केवल आश्वासन दे रही है। वे पिछले तीन साल से लातेहार जिले के बालूमाथ में अस्पताल बनाने की मांग कर रहे हैं। सदन में भी यह मुद्दा कई बार उठाया गया।

सदन में कई बार उठाया मुद्दा, नहीं हुई कार्रवाई : बैद्यनाथ राम

मुख्यमंत्री से मुलाकात कर भी इस बात को रखा, लेकिन कोई काम नहीं हुआ। बैद्यनाथ राम ने कहा कि अस्पताल नहीं बना लेकिन एक करोड़ 25 लाख का घोटाला जरूर हुआ। यह मामला सदन में भी उठा लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने साफ़-साफ कहा कि सरकार कोई भी हो वह पहले लातेहार के विधायक हैं, क्षेत्र की जनता का विकास उनकी पहली जिम्मेदारी है और इसके लिए वे लोकतांत्रिक तरीके से आवाज उठाते रहेंगे।

स्वास्थ्य मंत्री की बातों पर भरोसा नहीं : बैद्यनाथ राम

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता धरने पर बैठे विधायक बैद्यनाथ राम से मिलने पहुंचे। स्वास्थ्य मंत्री बार-बार पत्रकारों के सामने विधायक को आश्वासन देते रहे लेकिन बैद्यनाथ राम ने मंत्री से बात तक नहीं की। बैद्यनाथ राम ने कहा कि मुझे स्वास्थ्य मंत्री की बातों पर भरोसा नहीं है। मुख्यमंत्री से शिकायत करेंगे।

भाजपा विधायकों ने सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

दूसरी ओर, भाजपा विधायकों ने विधानसभा के मुख्य द्वार पर झारखंड सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और विरोध प्रदर्शन किया। बीजेपी विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि हेमंत सरकार रोजगार के बहाने बनी, लेकिन झारखंड के युवाओं को तीन साल में रोजगार नहीं मिला। उन्होंने कहा कि पहले से जिसे रोजगार मिला था उसे भी इस सरकार ने छीनने का काम किया। पोषण सखी का मामला सबके सामने है। इसी तरह गलत नियोजन नीति बनाकर इस सरकार ने युवाओं को ठगने का काम किया है।

झारखंड में बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं : नीरा यादव

बीजेपी विधायक नीरा यादव ने कहा कि झारखंड में बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। जब यह मामला उठता है तो मुख्यमंत्री का बयान आता है कि ऐसी घटनाएं कहां नहीं होतीं। मुख्यमंत्री का यह बयान उनकी संवेदनशीलता को दर्शाता है।