Breaking :
||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद||लातेहार में PLFI के दो उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार, ठेकेदारों को फोन पर देते थे धमकी||पलामू: JJMP के सब जोनल कमांडर ने किया सरेंडर, खोले कई चौंकाने वाले राज||लातेहार: अनियंत्रित बोलेरो ने खड़े ट्रक में मारी टक्कर, दो युवकों की मौत, चार की हालत नाजुक||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति

कोलकाता हाईकोर्ट ने झारखंड कांग्रेस के तीनों विधायकों को दी जमानत, इरफान अंसारी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पर लगाया फंसाने का आरोप

रांची : कोलकाता हाईकोर्ट ने झारखंड के कांग्रेस के तीन विधायकों को जमानत दे दी है। अदालत ने जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी, खिजरी विधायक राजेश कच्छप और कोलेबिरा विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी को अंतरिम जमानत दे दी है। इन विधायकों को हाल ही में पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में 49 लाख रुपये नकद के साथ गिरफ्तार किया गया था।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी ने जमानत मिलने के बाद शनिवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर गंभीर आरोप लगाए। अंसारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राजनीतिक फायदे के लिए हमें झूठा फंसाया है। जो पैसा बरामद हुआ है वह हमारा है। इरफान अंसारी ने कहा कि हमारी रगों में कांग्रेस का खून बह रहा है। हम कभी भी भारतीय जनता पार्टी में शामिल नहीं हो सकते।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इरफान अंसारी ने कहा कि तीन विधायक कभी किसी सरकार को गिरा नहीं सकते। इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन विक्सल कोंगाड़ी पर झारखंड की गठबंधन सरकार को गिराने की साजिश रचने का आरोप है। हालांकि, विधायकों ने इस आरोप का जोरदार खंडन किया है। हाल ही में हाई कोर्ट ने उन्हें अंतरिम जमानत देते हुए कहा था कि सभी को व्यक्तिगत रूप से हर हफ्ते जांच अधिकारी के सामने पेश होना होगा।