Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Saturday, June 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: जमीन विवाद में कलयुगी बेटे ने की पिता की हत्या, फरार

पलामू : जिले के छतरपुर थाना क्षेत्र में रविवार की रात छोटे बेटे बिंदेश्वर यादव ने अपने पिता नारायण यादव (60) की धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी। घटना अर्जुनडीह इलाके में हुई। पुलिस ने सोमवार को शव को पोस्टमॉर्टम के लिए एमएमसीएच भेज दिया।

पुलिस ने बताया कि बेटा बिंदेश्वर यादव घटना के बाद से फरार है। घटना की जड़ जमीन विवाद है। पिता का शव नवनिर्मित मकान छतरपुर उदयगढ़ रोड के किनारे क्षत-विक्षत हालत में मिला। यह घर पिता द्वारा बड़े बेटे के लिए बनवाया जा रहा था।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

थाना प्रभारी शेखर कुमार ने बताया कि कुछ माह से पिता-पुत्र के बीच जमीन विवाद और फोरलेन बायपास के लिए मिली राशि के मामले में विवाद चल रहा था।

उन्होंने बताया कि तीन दिन पहले पिता-पुत्र में बंटवारे को लेकर झगड़ा हुआ था। तीन बेटों में सबसे छोटे बिंदेश्वर यादव ने कुछ महीने पहले ही अपने बेटे की शादी की थी। बाप-बेटे की दुश्मनी इतनी गहरी हो गयी थी कि दादा अपने पोते की शादी में भी शामिल नहीं हुए।

आरोपी बिंदेश्वर के बड़े भाई उदेश्वर यादव ने पुलिस को बताया कि यह हत्या मेरे छोटे भाई ने ही की है, जिसका मेरे पिता से बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था। बिंदेश्वर अभी भी अपने घर से फरार है। बड़े भाई उदेश्वर यादव और राजेश्वर यादव घर पर हैं। उनके बयान पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। अनुसंधान जारी है।