Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी
Tuesday, April 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरउत्तरी छोटानागपुरझारखंड

कल्पना सोरेन ने की सक्रिय राजनीति की शुरुआत, हुईं भावुक, छलके आंसू

Kalpana Soren started politics

गिरिडीह : पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन सोमवार को गिरिडीह में झामुमो के 51वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में शामिल हुई। कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि मैं भारी मन से आपके सामने खड़ी हूं। एक पिता के रूप में मेरे ससुर और मेरी सासू मां चिंतित हैं।

Kalpana Soren started politics
Kalpana Soren started politics

संबोधन के दौरान कल्पना सोरेन के आंसू छलक गये। उन्होंने कहा कि मुझे लगा था, मैं आंसू रोक लूंगी, लेकिन आपका प्यार देखकर मैं अपने आंसू रोक नहीं सकी। आप यहां से जोर से चिल्लाकर बता दीजिये कि आपका उत्साह आपके दादा (हेमंत सोरेन) तक जाये। जेल तक जाये। इतना बड़ा षड़यंत्र रचा गया कि हेमंत सोरेन जेल में है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कल्पना सोरेन ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि दिल्ली वालों के दिल धड़कते नहीं हैं, उन्हें लगता है वह आदिवासी दलित के साथ कुछ भी कर सकते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को पद छोड़ने पर मजबूर कर दिया। झारखंड में हमारी सरकार को गिराने की मंशा उनकी बिखर गयी। हमारे जितने भी कार्यकर्ता खड़े हैं उनके मनोबल से लगता है कि हमने उन्हें हरा तो दिया, लेकिन आने वाले समय में आप सभी को मिलकर उस आशीर्वाद को वोट में बदलना है। बताना है कि झारखंडी कभी झुकेगा नहीं।

उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री रहते हेमंत सोरेन की गलती क्या रही, जब महामारी में हेमंत सोरेन ने प्रवासी मजदूरों को देश के कई कोने से राज्य वापसी करायी। साजिश रचने वाली भाजपा उस वक्त खामोश थी। कल्पना ने कहा कि वो आज गिरिडीह से सक्रिय राजनीति की शुरुआत करने जा रही हैं, वो अब बहू नहीं, बल्कि राज्य की मां-बहनों की बेटी के रूप में जनता की सेवा करेंगी।

Kalpana Soren started politics