Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

IAS राजीव अरुण एक्का मामले में न्यायिक जांच आयोग ने अब लोगों से मांगे सबूत

रांची : झारखंड के मुख्यमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का के मामले में न्यायिक जांच आयोग ने अब लोगों से 5 जुलाई तक सबूत देने को कहा है। पहले इसकी समय सीमा 15 जून थी। आयोग का कहना है कि इस अवधि तक पर्याप्त लोगों ने अपेक्षा के अनुरूप प्रमाण के साथ संपर्क नहीं किया है।

आयोग ने कहा है कि यह आखिरी मौका है। आयोग ने फिर कहा है कि दलाल विशाल चौधरी के आवासीय कार्यालय से राजीव अरुण एक्का की आधिकारिक फाइलों के निष्पादन से संबंधित वायरल वीडियो से संबंधित किसी भी प्रकार का साक्ष्य हो तो वह कांके रोड स्थित एक्साइज भवन स्थित आयोग के कार्यालय में दे सकता है।

गौरतलब है कि बीजेपी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कुछ समय पहले यह खुलासा किया था। इसके बाद सरकार ने जांच के लिए एक न्यायिक आयोग (एक सदस्यीय) की घोषणा की और इसकी जिम्मेदारी झारखंड उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश वीके गुप्ता को सौंप दी। आयोग की अगली बैठक 12 जुलाई को होनी है।