Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी
Tuesday, April 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड में छह साल से नहीं हुई जेटेट परीक्षा, हाईकोर्ट में याचिका दायर

रांची : छह साल से शिक्षक पात्रता परीक्षा (जेईटी) नहीं कराने के खिलाफ शनिवार को झारखंड उच्च न्यायालय में याचिका दायर की गयी। रिट याचिका में कहा गया है कि झारखंड सरकार ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नियमों और दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया है। याचिका में कहा गया है कि प्रदेश में छह साल से शिक्षक पात्रता परीक्षा नहीं हुई है और सरकार 50 हजार शिक्षकों को बहाल करने की तैयारी कर रही है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इसके लिए सभी जिलों से मुख्यालय पर आरक्षण रोस्टर भी मंगवा लिया गया है। जेटेट परीक्षा पास करने के बाद ही अभ्यर्थी कक्षा एक से आठवीं तक के शिक्षक बन सकेंगे। शिक्षक नियुक्ति के मामले में इसे योग्यता के रूप में रखा गया है, सरकार की ओर से कहा गया है कि केवल जेटेट योग्य व्यक्ति ही शिक्षक बन सकते हैं। याचिकाकर्ता ने कहा है कि छह साल से परीक्षा न होने के कारण कई योग्य छात्र शिक्षक नहीं बन पाए हैं।