Breaking :
||लातेहार: बूढ़ा पहाड़ इलाके में नक्सलियों द्वारा छिपाये गये अत्याधुनिक हथियार व अन्य सामान बरामद||रांची हिंसा मामले में डीसी ने 11 आरोपियों पर मुकदमा चलाने की मांगी अनुमति||धनबाद आशीर्वाद टावर फायर मामले में हाई कोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, सरकार से पूछा- अबतक क्या की गयी कार्रवाई||चाईबासा: IED ब्लास्ट में एक बार फिर तीन जवान घायल, एयरलिफ्ट कर लाया गया रांची||लातेहार: बालूमाथ में सड़क हादसे में घायल युवक की इलाज के दौरान मौत, 17 फरवरी को होनी थी शादी||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन

चतरा में JPC का उग्रवादी गिरफ्तार, कोयला व्यवसायी व कंस्ट्रकशन ठेकेदारों से आया था लेवी वसूलने

चतरा : झारखंड प्रस्तुति समिति (जेपीसी) के उग्रवादी बालेश्वर राम उर्फ बालेश्वर भुइयां को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पुलिस ने इसके पास से Chemofly यूनिफॉर्म शर्ट छह पीस, Chemofly यूनिफॉर्म फुल पैंट छह पीस, Chemofly पी कैंप छह पीस, Chemofly पैंट ग्रीन बेल्ट छह पीस, थियार का गोली रखने वाला Chemofly पाउच छह पीस, हरे रंग की राइफल सिलिंग थ्री पीस, पिस्टल पाउच एक पीस और पिस्टल कवर एक पीस बरामद किया है।

टंडवा एसडीपीओ शंभु कुमार सिंह ने शुक्रवार को बताया कि कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि जेपीसी संगठन के लोग टंडवा और आसपास के सीमा थाना क्षेत्र के कोयला व्यवसायियों-कंस्ट्रकशन ठेकेदारों से संगठन के लिए लेवी वसूलने का प्रयास कर रहे हैं।

गुरुवार को सूचना मिली थी कि जेपीसी प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन के कुछ लोगों को चुंदरू धाम और थापा मोड़ के बीच देखा गया है। सूचना के बाद पुलिस इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया।

टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जेपीसी के सक्रिय उग्रवादी बालेश्वर राम को चुंदरू धाम के पास से गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से संगठन के लिए ली जा रही वर्दी के छह सेट और अन्य सामान बरामद किया गया है।

एसडीपीओ ने बताया कि वह पूर्व में कई उग्रवादी मामलों में जेल जा चुका है। इस संगठन से जुड़े अन्य उग्रवादियों की पहचान कर ली गयी है और उनकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है।