Breaking :
||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा||चतरा के पांच अफीम तस्कर हजारीबाग में गिरफ्तार||झारखंड में 4 IPS अफसरों का तबादला, लातेहार SP के पद पर बने रहेंगे अंजनी अंजन, 27 IPS अधिकारियों का मूवमेंट ऑडर जारी||बालूमाथ के चोरझरिया घाटी में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत समेत बालूमाथ की चार खबरें||झारखंड: आग लगने की सूचना पर ट्रेन से कूदे यात्री, झाझा-आसनसोल यात्रियों के ऊपर से गुजरी, 12 की मौत||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं रांची, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में हुईं शामिल, कहा- दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर भारत||झारखंड में बिजली हुई महंगी, नयी दरें एक मार्च से होंगी लागू||झारखंड में बड़े पैमाने पर BDO की ट्रांसफर-पोस्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट
Friday, March 1, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

बाबूलाल मरांडी और निशिकांत दुबे पर झामुमो दायर करेगा मानहानि का मुकदमा

रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि झामुमो भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी और सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज करायेगी। भट्टाचार्य मंगलवार को हरमू स्थित पार्टी कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि 29 जनवरी को ही मीडिया को बताया था कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन निजी काम से दिल्ली गये हैं। वे अब लौट भी आये हैं। इस बीच भाजपा के बाबूलाल मरांडी और निशिकांत दुबे ने मुख्यमंत्री को लेकर जिस तरह का वक्तव्य दिया है, वह शर्मनाक है। उनके खिलाफ पार्टी अब सीआरपीसी की धारा 499 (मानहानि) का केस करेगी। सीएम कोई व्यक्ति भर नहीं, अपने आप में एक संस्थान हैं। सुप्रियो ने कहा कि सीएम को मिसिंग बताते हैं और 11 हजार रुपये इनाम की बात करते हैं। बाबूलाल का संगठन सीएम को लेकर थाना तक चला जाता है।

उन्होंने कहा कि जब मुख्यमंत्री ने यहां 31 जनवरी को ईडी को समय दिया हुआ है तो उनके दिल्ली आवास पर वह क्यों और कैसे पहुंच गयी। उसे यह अधिकार किसने दिया। दिल्ली आवास से 36 लाख रुपये कैश मिलने की बात कही जा रही। कौन जानता है कि बाबूलाल या ईडी ने ही इसे प्लांट कराया हो। मुख्यमंत्री के मिसिंग होने की बात करने वाले मुख्य विपक्षी दल और उनके नेता बताएं कि क्या मुख्यमंत्री भाजपा ऑफिस में बायोमेट्रिक अटेंडेंस देंगे?

एक सवाल पर कि आखिर मुख्यमंत्री रांची कैसे लौटे? सुप्रियो ने भड़कते हुए कहा कि मीडिया का ऐसा सवाल भ्रम पैदा करता है। संविधान में कहीं नहीं लिखा कि जो कोई भी जिस साधन (ट्रेन, प्लेन, बस) से कहीं जाये तो उसी से लौटे। कोरोना काल में महाराष्ट्र से हजारों लोग 2500 किमी पैदल चल कर यहां आये। मुख्यमंत्री भी आ गये, यही बहुत है। भले वे घुटने के बल चलकर आये हों। राजभवन को भी निशाने पर रखते कहा कि यह कौन सा पैनिक क्रिएट किया जा रहा, वे मुख्य सचिव, डीजीपी को अपने ही यहां रख लें।

हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन का सीएम हाउस में विधायक संग बैठक में शामिल होने के सवाल पर सुप्रियो ने कहा कि दोपहर में हुई बैठक एक साथ जुटने और बापू वाटिका जाने को लेकर थी। कल्पना से राजनीति नहीं चलती। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सीता सोरेन और रामदास सोरेन भी दिल्ली में हैं, पार्टी को मालूम है।

JMM Defamation Case Babulal Nishikant