Breaking :
||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर

झारखंड के शिक्षा मंत्री की फिर बिगड़ी तबीयत, मुख्यमंत्री पहुंचे मिलने, चेन्नई ले जाने की तैयारी

रांची : झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की सोमवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई। जैसे ही वह विधानसभा के मानसून सत्र में भाग लेने के लिए विधानसभा पहुंचे, उन्हें बेचैनी होने लगी। इसके बाद उन्हें धुर्वा के पारस अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि, मंत्री की तबीयत स्थिर है और वह बातचीत भी कर रहे हैं। उन्हें एयर एंबुलेंस से चेन्नई ले जाने की तैयारी की जा रही है, जहां उनका फेफड़ा प्रत्यारोपण हुआ था।

बताया गया कि सोमवार को मंत्री जैसे ही विधानसभा पहुंचे, उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। चक्कर आने और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद असेंबली डिस्पेंसरी के डॉक्टरों ने उनका ब्लड प्रेशर चेक किया, फिर उन्हें बढ़ा दिया गया। उन्हें सांस लेने में भी कुछ परेशानी हो रही थी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इसके बाद आनन-फानन में उन्हें पारस अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां एमजीएम, चेन्नई के डॉक्टरों द्वारा फोन पर प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार उनका इलाज शुरू हुआ। खबर लिखे जाने तक एमजीएम के डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें एयर एंबुलेंस से चेन्नई भेजने की तैयारी चल रही थी। आपको बता दें कि साल 2020 में एमजीएम चेन्नई में ही फेफड़ा प्रत्यारोपण किया गया था।

शिक्षा मंत्री के पारस अस्पताल में भर्ती होने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, विधानसभा अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो, वित्त मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव के अलावा विधायक नीरा यादव आदि उनसे मिलने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने डॉक्टरों से मंत्री के स्वास्थ्य और उनके इलाज की जानकारी ली।