Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

झारखंड में जल्द होगी 40000 नियुक्तियां, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

रांची : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को परियोजना भवन सभागार में राज्य फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला के लिए 37 सहायक निदेशकों और 56 वैज्ञानिक सहायकों को नियुक्ति पत्र दिया।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि अवर सेवा के पद के लिए 12000 नौकरियों का प्रस्ताव भी भेजा गया है। 40000 पदों पर नियुक्ति के लिए राज्य सेवा आयोग को प्रस्ताव भेजे जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य की फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला को इतना विकसित किया जाएगा कि अन्य राज्यों से भी नमूने जांच के लिए झारखंड आएंगे। हम राज्य के सभी 5 प्रमंडलों में फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशालाएं विकसित करने की योजना बना रहे हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि दुनिया चांद पर पहुंच गई है, हमारा राज्य जहां पहले खड़ा था, वहां क्यों खड़ा है। क्या कमी है, क्या हमारे पास कुशल अधिकारी नहीं हैं, जो इस राज्य को आगे बढ़ा सके और आगे ले जा सके। यह हम जाने की कोशिश कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि गृह मामलों और आपदा प्रबंधन विभाग की समीक्षा के बाद मैंने जेल के बंदियों की समीक्षा की थी। समीक्षा के दौरान जानकारी मिली कि 90% कैदी आदिवासी समूह के हैं। कुछ मुर्गे चुराने, बकरी चुराने और पेड़ काटने के अपराध में पकड़े गए हैं। जिसकी अधिकतम सजा 3 साल है, लेकिन ये कैदी 5 साल तक जेल में बिता चुके हैं। ऐसे बंदियों को जेल से रिहा कर देना चाहिए था। लेकिन उसका अपना कोई शुभचिंतक नहीं है, जो उसे बाहर निकाल सके। सरकार इन बंदियों को बाहर निकालने पर विचार कर रही है। इस दिशा में सरकार ने पहल शुरू कर दी है।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य सरकार पहले ही पारा शिक्षकों की समस्याओं का समाधान कर चुकी है। हम हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहे हैं। 2 साल से राज्य कोरोना वायरस से परेशान था, अब दौड़ने वाला है। कई नियुक्तियों के लिए नियुक्ति नियमावली तैयार करने में थोड़ी देरी हुई है। अब नियुक्तियां तेज होंगी। कुछ दिन पहले कृषि विभाग में 100 पदाधिकारियों की नियुक्ति की गई थी। सरकार हर विभाग में खाली पदों को भरने के लिए तैयार है। सरकार चाहती है कि ज्यादा से ज्यादा नियुक्तियां हों और झारखंड के युवाओं को रोजगार मिले और झारखंड विकास के पथ पर आगे बढ़े।

Jharkhand appointments