Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में बोलेरो ने बाइक में पीछे से मारी टक्कर, दो IRB जवान समेत चार घायल, दो रिम्स रेफर, सड़क जाम||पलामू में ट्रक ने झामुमो नेता के रिश्तेदार को रौंदा||झारखंड में बड़ा सड़क हादसा, तीन की मौत, सात घायल||झारखंड में लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 65.40 फीसदी वोटिंग, गिरिडीह और धनबाद में महिलाएं तो रांची और जमशेदपुर में पुरुषों ने मारी बाजी||बड़ी घटना को अंजाम देने आये अमन साहू गिरोह के चार शूटर चढ़े पुलिस के हत्थे||प्रेमी ने शादी का झांसा देकर किया यौन शोषण, धोखा बर्दाश्त नहीं कर पायी प्रेमिका, की जान देने की कोशिश, मामला दर्ज||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला
Monday, May 27, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड जल्द होगा सूखाग्रस्त घोषित, सभी मापदंडों पर तैयार हो रही रिपोर्ट

मुख्य सचिव 18 अगस्त को सभी उपायुक्तों के साथ करेंगे बैठक

रांची : राज्य में सूखे की स्थिति का जायजा लेने के लिए हर जिले में टीमें काम कर रही हैं. कृषि मंत्री बादल के मुताबिक टीम रविवार से अपनी रिपोर्ट सौंपना शुरू कर देगी। इस रिपोर्ट के आधार पर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह 18 अगस्त को सभी उपायुक्तों के साथ बैठक कर सूखे की स्थिति पर रिपोर्ट देंगे। रिपोर्ट के आधार पर केंद्र सरकार की ओर से राज्य के प्रभावित प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित करने का प्रस्ताव भेजा जाएगा।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

हालांकि मुख्य सचिव की बैठक के बाद आपदा प्रबंधन विभाग के मंत्री बन्ना गुप्ता समीक्षा करेंगे। तीसरे चरण में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कृषि मंत्री की मौजूदगी में बारिश, रोपण, मिट्टी की नमी से संबंधित रिपोर्ट की समीक्षा करेंगे। वस्तुस्थिति पर विचार करने के बाद केंद्र सरकार से प्रभावित प्रखंडों को सूखा घोषित कर किसानों को मुआवजे देने की मांग राज्य सरकार करेगी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

कृषि मंत्री बादल के मुताबिक, राज्य के कई हिस्सों में पिछले चार दिनों से मानसून सक्रिय है और अगले तीन-चार दिनों तक बारिश की संभावना है। इस बीच, संताल परगना, पलामू, उत्तरी छोटानागपुर के करीब सात-आठ जिलों में कम बारिश की स्थिति बनी हुई है। सरकार को अब तक विभिन्न जिलों से प्राप्त रिपोर्टों के अनुसार पलामू, गढ़वा और लातेहार के अधिकांश प्रखंडों की स्थिति बेहद खराब है और यहां सूखे से इंकार नहीं किया जा सकता।