Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड के शिक्षा मंत्री का फैसला, अब पारा शिक्षकों का कटेगा ईपीएफ, मिड डे मील बीईईओ के जिम्मे

पारा शिक्षकों का कटेगा 12 प्रतिशत ईपीएफ : शिक्षा मंत्री

रांची : झारखंड के 61421 पारा शिक्षकों के कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) का रास्ता साफ हो गया है। इस फाइल पर स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता मंत्री जगरनाथ महतो ने हस्ताक्षर किये हैं। ईपीएफ में 12 फीसदी रकम जमा होगी। इसमें पारा शिक्षकों के मानदेय का छह प्रतिशत व छह प्रतिशत सरकार देगी। सरकार पारा शिक्षकों के लिए कल्याण कोष भी स्थापित करेगी। यह फैसला सोमवार को लिया गया है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आकस्मिक मृत्यु पर पांच लाख की आर्थिक सहायता

कल्याण कोष में जमा राशि से पारा शिक्षकों की सेवानिवृत्ति पर पांच लाख एवं किसी की आकस्मिक मृत्यु होने पर पांच लाख की आर्थिक सहायता दी जायेगी। सोमवार को मंत्री जगरनाथ महतो की अध्यक्षता में हुई विभागीय समीक्षा बैठक में यह निर्णय लिया गया है। बैठक सोमवार को मंत्री के आवास पर हुई।

मिड डे मील अब बीईईओ के जिम्मे

वहीं प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अब मध्याह्न भोजन की जिम्मेदारी प्रखंड शिक्षा विस्तार पदाधिकारी (बीईईओ) की होगी। अगर बच्चों को स्कूल में एक दिन भी मिड-डे मील नहीं मिला तो बीईईओ का दो दिन का वेतन काटा जायेगा।

प्रधानाध्यापकों के 9000 पद किये जायेंगे सृजित

समीक्षा बैठक में प्रधानाध्यापकों के पदों के सृजन को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है। मंत्री जगरनाथ महतो ने बताया कि प्रदेश के मध्य विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों के 9000 पद सृजित किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया है कि अब कई शिक्षकों की नियुक्ति उनके गृह जिले में की जायेगी। इसमें महिला शिक्षक, यदि पति-पत्नी शिक्षक हैं व स्वास्थ्य कारणों का हवाला देने वाले शिक्षक शामिल हैं।

अन्य मुद्दों पर चर्चा

झारखंड में विद्यालयों की स्वीकृति, प्रधानाध्यापकों के पदों के सृजन एवं सहायक शिक्षकों से संबंधित समस्याओं, सहायक शिक्षकों से संबंधित समस्याओं में वेतन विसंगति, अनुकम्पा, मूल्यांकन परीक्षा, कल्याण निधि, कर्मचारी भविष्य निधि आदि पर चर्चा की गयी।

इनकी उपस्थिति में लिया गया फैसला

बैठक में सचिव, स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, निदेशक, प्राथमिक शिक्षा, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद (JEPC), निदेशक, झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) उपस्थित थे।