Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू में चार दिन बाद इंटरनेट सेवा बहाल, पांकी में धारा 144 रहेगी लागू

palamu violence

पलामू : जिले के पांकी में महाशिवरात्रि पर तोरण निर्माण को लेकर 15 फरवरी को दो समुदायों के बीच हुई हिंसा के बाद चौथे दिन रविवार से इंटरनेट सेवा शुरू हो गयी है। पांकी में दो पक्षों में हुई झड़प के बाद बुधवार रात आठ बजे से इंटरनेट सेवा बंद कर दी गयी थी। फिलहाल इलाके में धारा 144 लागू रहेगी।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पांकी में पांच दिन के विवाद के बाद स्थिति सामान्य होती नजर आ रही है। प्रशासनिक अधिकारियों ने इसकी पुष्टि करते हुए यह भी कहा कि स्थिति को नियंत्रण में रखते हुए इसे सामान्य करने के लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। प्रशासनिक हस्तक्षेप और आम लोगों के सहयोग से पूरी उम्मीद है कि पांकी की स्थिति पहले की तरह बहाल हो जायेगी। पांकी में जल्द ही जनजीवन सामान्य हो जायेगा।

वहीं दूसरी ओर आम लोग भी इस विकट स्थिति से जल्द निकलने की उम्मीद कर रहे हैं। हालात बिगड़ने से व्यापारी, छात्र, मजदूर सहित अन्य लोग प्रभावित हुए हैं। पांकी में हुई घटना से पूरा पलामू जिला प्रभावित हुआ है।

पुलिस प्रशासन द्वारा कड़ी चौकसी और सुरक्षा के बीच शनिवार को पांकी में महाशिवरात्रि पर्व मनाया गया। महाशिवरात्रि के मौके पर भगवान शिव की बारात नहीं निकाली जा सकी। हर साल महाशिवरात्रि पर पानके के राहेवीर पहाड़ी मंदिर से भगवान शिव की बरात निकालने की परंपरा रही है, लेकिन पांकी की घटना के कारण इस साल वर्षों से चली आ रही यह परंपरा टूट गयी। प्रशासन के निर्देश पर कड़ी सुरक्षा के बीच पांकी प्रखंड मुख्यालय शिव मंदिर सहित राहेवीर पहाड़ी मंदिर में पूजा अर्चना की गयी।

पलामू जोन के आईजी राजकुमार लकड़ा, डीसी ए दोड्डे, वरिष्ठ आईपीएस इंद्रजीत महथा, एसपी चंदन कुमार सिन्हा सहित कई अधिकारी लगातार क्षेत्र में डेरा डाले हुए हैं।

गौरतलब है कि पांकी हिंसा मामले में पुलिस ने 18 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया है। कुल 159 नामजद और जबकि 2900 अज्ञात के खिलाफ मामले दर्ज किये गये हैं। पांकी के 20 किमी के दायरे में 2100 से ज्यादा पुलिस बल तैनात किया गया है।

palamu violence