Breaking :
||झारखंड में भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 20 जून तक मानसून करेगा प्रवेश||पलामू: बालिका गृह में दुष्कर्म पीड़िता की बहन की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम||सतबरवा प्रखंड के रैयतों ने सांसद से की मुलाकात, उचित मुआवजा दिलाने की मांग||पलामू में तीन अलग-अलग सड़क हादसों में तीन की मौत, नेतरहाट घूमने जा रहा एक पर्यटक भी शामिल||केंद्रीय मंत्री शिवराज व असम के मुख्यमंत्री हिमंता झारखंड विधान सभा चुनाव में भाजपा का करेंगे बेड़ापार||झारखंड में पांच नक्सली ढेर, एक महिला नक्सली समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद||अब स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग स्कूली बच्चों को नशीले पदार्थो के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में करेगा जागरूक||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर
Tuesday, June 18, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

चुनाव आयोग ने राज्य सरकार को तीन साल से एक ही जगह जमे अधिकारियों को हटाने का दिया निर्देश

रांची : चुनाव आयोग ने राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में तीन साल से अधिक समय से कार्यरत अधिकारियों और कर्मचारियों को पदस्थापित करने का निर्देश दिया है। चुनाव आयोग के निर्देश के तहत ऐसे सभी सरकारी सेवकों को 30 जनवरी तक हटा दिया जायेगा। चुनाव आयोग के निर्देश की जानकारी देते हुए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के रवि कुमार ने बताया कि लोकसभा को लेकर आयोग द्वारा दिये गये निर्देश की जानकारी राज्य सरकार को चुनाव उपलब्ध करा दिया गया है।

भारत निर्वाचन आयोग के इस निर्देश के बाद राज्य सरकार सभी विभागों में तीन साल से अधिक समय से तैनात अधिकारियों की सूची तैयार कर रही है। जल्द ही बड़े पैमाने पर प्रशासनिक बदलाव किये जायेंगे। जानकारी के मुताबिक 14 जनवरी के बाद सरकार ऐसे अधिकारियों को हटाने की कार्रवाई करेगी। साथ ही चुनाव आयोग के निर्देशानुसार सरकार को 30 जनवरी के बाद एक्शन टेकन रिपोर्ट आयोग को सौंपनी है, इसी को ध्यान में रखते हुए विभिन्न विभागों द्वारा ट्रांसफर पोस्टिंग की कवायद शुरू कर दी गयी है।

आयोग ने सरकार से यह भी जानकारी मांगी है कि 30 जनवरी के बाद ऐसे कितने अधिकारी हैं जो तीन साल से अधिक समय से पदस्थापित हैं और इसके पीछे क्या कारण है। जाहिर है आयोग के इस निर्देश के बाद उन अधिकारियों पर आयोग की ओर से फैसला लिया जायेगा जो 30 जनवरी के बाद तीन साल से ज्यादा समय से एक ही जगह पर जमे हुए पाये जायेंगे।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव को लेकर आयोग की ओर से तैयारियां पूरी की जा रही हैं। संभावना है कि 10 मार्च के बाद किसी भी दिन आयोग की ओर से चुनाव की घोषणा कर दी जायेगी। 2019 के लोकसभा चुनाव की घोषणा 10 मार्च को हुई थी और चार चरणों में वोटिंग करायी गयी थी, इसी को ध्यान में रखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बार भी 15 मार्च तक लोकसभा चुनाव की डुगडुगी जरूर बज जायेगी।

Jharkhand Breaking News Today