Breaking :
||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा||चतरा के पांच अफीम तस्कर हजारीबाग में गिरफ्तार||झारखंड में 4 IPS अफसरों का तबादला, लातेहार SP के पद पर बने रहेंगे अंजनी अंजन, 27 IPS अधिकारियों का मूवमेंट ऑडर जारी||बालूमाथ के चोरझरिया घाटी में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत समेत बालूमाथ की चार खबरें||झारखंड: आग लगने की सूचना पर ट्रेन से कूदे यात्री, झाझा-आसनसोल यात्रियों के ऊपर से गुजरी, 12 की मौत||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं रांची, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में हुईं शामिल, कहा- दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर भारत||झारखंड में बिजली हुई महंगी, नयी दरें एक मार्च से होंगी लागू||झारखंड में बड़े पैमाने पर BDO की ट्रांसफर-पोस्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट
Friday, March 1, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

चुनाव आयोग ने राज्य सरकार को तीन साल से एक ही जगह जमे अधिकारियों को हटाने का दिया निर्देश

रांची : चुनाव आयोग ने राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में तीन साल से अधिक समय से कार्यरत अधिकारियों और कर्मचारियों को पदस्थापित करने का निर्देश दिया है। चुनाव आयोग के निर्देश के तहत ऐसे सभी सरकारी सेवकों को 30 जनवरी तक हटा दिया जायेगा। चुनाव आयोग के निर्देश की जानकारी देते हुए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के रवि कुमार ने बताया कि लोकसभा को लेकर आयोग द्वारा दिये गये निर्देश की जानकारी राज्य सरकार को चुनाव उपलब्ध करा दिया गया है।

भारत निर्वाचन आयोग के इस निर्देश के बाद राज्य सरकार सभी विभागों में तीन साल से अधिक समय से तैनात अधिकारियों की सूची तैयार कर रही है। जल्द ही बड़े पैमाने पर प्रशासनिक बदलाव किये जायेंगे। जानकारी के मुताबिक 14 जनवरी के बाद सरकार ऐसे अधिकारियों को हटाने की कार्रवाई करेगी। साथ ही चुनाव आयोग के निर्देशानुसार सरकार को 30 जनवरी के बाद एक्शन टेकन रिपोर्ट आयोग को सौंपनी है, इसी को ध्यान में रखते हुए विभिन्न विभागों द्वारा ट्रांसफर पोस्टिंग की कवायद शुरू कर दी गयी है।

आयोग ने सरकार से यह भी जानकारी मांगी है कि 30 जनवरी के बाद ऐसे कितने अधिकारी हैं जो तीन साल से अधिक समय से पदस्थापित हैं और इसके पीछे क्या कारण है। जाहिर है आयोग के इस निर्देश के बाद उन अधिकारियों पर आयोग की ओर से फैसला लिया जायेगा जो 30 जनवरी के बाद तीन साल से ज्यादा समय से एक ही जगह पर जमे हुए पाये जायेंगे।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव को लेकर आयोग की ओर से तैयारियां पूरी की जा रही हैं। संभावना है कि 10 मार्च के बाद किसी भी दिन आयोग की ओर से चुनाव की घोषणा कर दी जायेगी। 2019 के लोकसभा चुनाव की घोषणा 10 मार्च को हुई थी और चार चरणों में वोटिंग करायी गयी थी, इसी को ध्यान में रखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बार भी 15 मार्च तक लोकसभा चुनाव की डुगडुगी जरूर बज जायेगी।

Jharkhand Breaking News Today