Breaking :
||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत||लातेहार: बारियातू में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस||गुमला में TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और जिंदा कारतूस समेत अन्य सामान बरामद||चतरा: नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, दो सिलेंडर बम बरामद||मनी लॉन्ड्रिंग मामले में निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम की जमानत याचिका खारिज, पत्नी व पिता को भी नहीं मिली राहत||नहाय खाय के साथ सूर्योपासना का चार दिवसीय चैती छठ महापर्व शुरू||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में अनुपस्थित 56 मतदान कर्मियों को मिला आखिरी मौका, उपस्थित नहीं हुए तो होगी कार्रवाई
Sunday, April 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: सिंचाई के दौरान करंट लगने से मासूम की मौत, पांच बहनों में इकलौता भाई था उज्जवल

लातेहार : सदर थाना क्षेत्र के मानिकपुरा गांव में बिजली पंप से धान की सिंचाई करने के दौरान करंट लगने से एक मासूम बच्चे की मौत हो गयी। मृत मासूम बच्चे की पहचान मानिकपुरा गांव निवासी रंजन यादव के पांच वर्षीय पुत्र उज्जवल यादव के रूप में की गयी है। वह अपनी पांच बहनों के बीच इकलौता भाई था। हादसे के बाद परिजनों में मातम का माहौल है। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Kidzee Latehar
Kidzee Latehar

बताया जाता है कि रंजन यादव की पत्नी अपने घर के सामने कुएं में मोटर लगाकर धान में पानी डाल रही थी। इसी बीच रंजन यादव का पांच वर्षीय पुत्र उज्जवल यादव खेलते-खेलते मोटर के पास पहुंच गया। जहां पहले से कटे बिजली के तार के संपर्क में आने से उज्जवल यादव की मौके पर ही मौत हो गयी। हालांकि, परिजनों द्वारा आनन-फानन में सदर अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पोस्टमार्टम बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इधर, बिजली विभाग के कनीय अभियंता अंकित कुमार ने बताया कि बच्चे की मौत की जानकारी मिली है। बच्चे की मौत कैसे हुई इसकी जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि जल संचयन के दौरान लोगों द्वारा बरती जा रही लापरवाही के कारण ऐसी घटनाएं हो रही हैं।

बताया जा रहा है कि गांव के अधिकांश लोग पिछले कई महीनों से अवैध रूप से जर्जर तार के सहारे बिजली खेतों तक ले जाकर सिचाई करते आ रहे हैं। इसी लापरवाही की वजह से आज एक मासूम बच्चे की जान चली गयी।

Latehar Latest News Today