Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत||जेठानी ने देवरानी पर लगाये गंभीर आरोप, कहा- कल्पना सोरेन के इशारे पर मेरी दोनों बेटियों को मारने की थी कोशिश||गढ़वा: JJMP जोनल कमांडर के नाम पर पूर्व विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी को धमकी||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में फिर मारे गये सात नक्सली
Saturday, May 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: किड्जी प्री स्कूल में बच्चों ने प्रस्तुत की मां दुर्गा के नौ रूपों की आकर्षक झांकी, शिक्षिकाओं ने किया कन्या पूजन

महिषासुरमर्दिनी गतिविधि का किया गया आयोजन

लातेहार : शहर के गायत्रीनगर स्थित किड्जी प्री स्कूल में नवरात्रि के पावन अवसर पर महिषासुरमर्दिनी गतिविधि का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मां दुर्गा, लक्ष्मी, सरस्वती, राम, लक्ष्मण, सीता, हनुमान, महिषासुर और सिंह के रूप में रंग-बिरंगे पौराणिक परिधानों में सजे बच्चे स्कूल पहुंचे। इस गतिविधि के दौरान बच्चों द्वारा महिषासुरमर्दिनी दृश्य पर आधारित कई झांकियां प्रस्तुत की गयीं। जो बहुत ही मनमोहक था।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

कार्यक्रम के दौरान शिक्षिकाओं ने नौ कन्याओं का पूजन कर मिष्टान भोजन कराया। मौके पर मां दुर्गा के नौ रूपों की विधिवत आरती और पूजा की गयी। मां के नौ रूपों में सजे स्कूल की नन्ही बच्चियां बेहद आकर्षक और मनमोहक लग रही थीं।

इस दौरान रामायण पर आधारित झांकी भी प्रस्तुत की गयी। जिसमें राम, लक्ष्मण, सीता, हनुमान, शंकर और पार्वती के वेश में बच्चों ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

बच्चों को संबोधित करते हुए किड्जी सेंटर हेड नवीन कुमार मिश्रा ने कहा कि महिषासुरमर्दिनी के नाम से मशहूर मां दुर्गा ने महिषासुर राक्षस का वध कर दुनिया की रक्षा की थी। उन्होंने कहा कि विजयादशमी सिर्फ एक त्योहार नहीं है, बल्कि यह झूठ पर सच्चाई की, साहस की, निस्वार्थ मदद की और दोस्ती की जीत का प्रतीक है।दशहरे के दिन रावण के प्रतीकात्मक रूप को यह समझाने के लिए जलाया जाता है कि बुराई पर हमेशा अच्छाई की जीत होती है।

कार्यक्रम के सफल आयोजन में शिक्षिका अलका शर्मा, निहारिका सिंह, निधि कुमारी, मानसी राज, अटेंडेंट सुमिता, सुचिता, पांपति, सीमा, गार्ड रोजलिन, वैन चालक चन्दन, मेड पूनम की सहभागिता सराहनीय रही।

Kidzee Latehar News Today