Breaking :
||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत||लातेहार: बारियातू में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस
Sunday, April 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: अबुआ आवास की स्वीकृति में बरती गयी भारी अनियमितता, शिकायत के बाद डीडीसी ने की जांच, मुखिया और पंचायत सचिव पर गिर सकती है गाज

Palamu Abua House News

पलामू : राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना अबुआ आवास की स्वीकृति में गड़बड़ी की शिकायत के बाद जिले के उपविकास आयुक्त रवि आनन्द जांच के लिए बुधवार को जिले के तरहसी प्रखंड कार्यालय पहुंचे। डीडीसी के साथ नगर आयुक्त जावेद हुसैन भी मौके पर पहुंचे थे। प्रखंड विकास पदाधिकारी वरुण कुमार से पूरी जानकारी ली। साथ ही शिकायत के आलोक में प्रखंड की नौगढ़ पंचायत में लाभुकों की जांच करने एवं रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया।

गौरतलब है कि नौगढ़ पंचायत क्षेत्र से शिकायत की गयी थी कि अबुआ आवास की स्वीकृति में धांधली बरती गयी है। आयोग्य लाभुकों का चयन कर लिया गया है। योग्य को दरकिनार किया गया है।

मौके पर डीडीसी ने बताया कि शिकायत के आलोक में नौगढ़ के मुखिया पाइनियर पांडेय एवं पंचायत सचिव से स्पष्टीकरण मांगा गया था। मुखिया द्वारा अबतक जवाब नहीं दिया गया है। पंचायत सचिव के स्पष्टीकरण पर विचार किया जा रहा है। मुखिया को दूसरी बार स्पष्टीकरण दिया जायेगा। इसके बाद भी जवाब नहीं देने पर नियम संगत कार्रवाई की जायेगी।

एक प्रश्न के जवाब में डीडीसी ने बताया कि पूरे जिले में 13080 का लक्ष्य अबुआ आवास को लेकर है। इसके आलोक में दो लाख आवेदन पड़े हैं। दोनों में भारी अंतर हैं। ऐसे में सभी को इस वर्ष अबुआ आवास देना मुश्किल है। शिकायत जो भी आती है, उसकी जांच करायी जाती है। उन्होंने कहा कि द्वितीय स्पष्टीकरण के बाद भी नौगढ़ मुखिया जवाब नहीं देंगे तो उनकी वित्तीय शक्ति जब्त की जायेगी एवं पंचायत सचिव की गलती सामने आने पर दंडात्मक कार्रवाई की जायेगी।

Palamu Abua House News