Breaking :
||कैबिनेट की बैठक में 40 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, राज्य कर्मियों की पेंशन योजना में संशोधन, अब पांच हजार रुपये मिलेगा पोशाक भत्ता||पलामू: नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को 20 साल सश्रम कारावास की सजा||चतरा के पांच अफीम तस्कर हजारीबाग में गिरफ्तार||झारखंड में 4 IPS अफसरों का तबादला, लातेहार SP के पद पर बने रहेंगे अंजनी अंजन, 27 IPS अधिकारियों का मूवमेंट ऑडर जारी||बालूमाथ के चोरझरिया घाटी में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत समेत बालूमाथ की चार खबरें||झारखंड: आग लगने की सूचना पर ट्रेन से कूदे यात्री, झाझा-आसनसोल यात्रियों के ऊपर से गुजरी, 12 की मौत||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं रांची, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में हुईं शामिल, कहा- दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर भारत||झारखंड में बिजली हुई महंगी, नयी दरें एक मार्च से होंगी लागू||झारखंड में बड़े पैमाने पर BDO की ट्रांसफर-पोस्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट
Friday, March 1, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहारहेरहंज

लातेहार: हेरहंज में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना में बरती जा रही भारी अनियमितता, ग्रामीणों ने अधिकारी व संवेदक पर लगाये गंभीर आरोप

लातेहार : जिले के हेरहंज प्रखंड क्षेत्र के सेरनदाग पंचायत अंतर्गत खपिया गांव से सेरनदाग गांव तक प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सड़क का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। वर्तमान समय में खपिया बस्ती में पीसीसी सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है, जहां के ग्रामीणों का आरोप है कि उक्त पीसीसी निर्माण में डस्ट एवं मिट्टी मिश्रित बालू का उपयोग कर निम्न गुणवत्ता वाली सड़क का निर्माण कराया जा रहा है। सड़क के निर्माण में गुणवत्ता का ख्याल नहीं रखा जा रहा है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ग्रामीणों ने यह भी कहा कि विरोध के बाद भी यह सारा काम विभाग के कनीय अभियंता और सहायक अभियंता की मौजूदगी में हो रहा है। ग्रामीण घनश्याम सिंह, उपमुखिया विनोद सिंह समेत कई लोगों ने बताया कि यह विरोध शुरू से ही चल रहा था। वहीं विभाग के लोगों से मौखिक शिकायत भी की गयी लेकिन किसी ने नहीं सुनी। आज भी ऐसा ही हुआ। जूनियर इंजीनियर की मौजूदगी में यह काम किया गया।

ग्रामीणों ने कहा कि विभाग के अधिकारी व संवेदक की मिलीभगत से सड़क का निर्माण निम्न स्तर पर किया जा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि इतना ही नहीं मात्रा के अनुरूप किसी भी सामग्री का उपयोग नहीं किया जा रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि ठेकेदार द्वारा कहा जाता है कि जहां भी शिकायत होगी, सभी को पैसा मिलता है। गौरतलब है कि उक्त सड़क का निर्माण 5.50 किलोमीटर तक होना है।

जानकारी के अनुसार उक्त सड़क का प्राक्कलन 3 करोड़ 97 लाख रुपये बताया जा रहा है। जिसका टेंडर चंदवा के साहिल इंफ्रा प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड ने लिया है।

इस संबंध में कनीय अभियंता संतोष उरांव ने कहा कि मैं और एसडीओ साहब जांच के लिए गये थे, ग्रामीणों ने शिकायत भी की है। मुंशी और ठेकेदार को पीसीसी के निर्माण में डस्ट का उपयोग नहीं करने से मना किया है।

Herhanj Latehar Latest News