Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरगारूपलामू प्रमंडललातेहार

कार्रवाई: पलामू टाइगर रिजर्व से भारी मात्रा में बेशकीमती लकड़ी ज़ब्त, ग्रामीणों ने जताया विरोध

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : पलामू टाइगर रिजर्व के वन प्रक्षेत्र बारेसांढ़ के झुमरी टोला से वन विभाग की टीम ने बेशकीमती लकड़ियां ज़ब्त की है। वन कर्मियों ने रामसेवक राम के घर से भारी मात्रा में साल, बिया, गम्हार का चिरान व पटरा जब्त किया है। टीम ने छापामारी के दौरान फर्नीचर बनाने के औजार भी जब्त किये हैं। सभी सामग्रियों को जब्त कर वन परिसर बारेसांढ़ लाया गया है।

जानकारी के मुताबिक गुप्त सूचना के आधार पर वन विभाग की टीम ने छापामारी अभियान चलाकर इस कारवाई में सफल हुई है। हालांकि वन विभाग को इस कारवाई के लिए कड़ी मशक्कत भी करनी पड़ी है। चुकी छापामारी के दौरान वन विभाग की टीम को ग्रामीणों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

छापेमारी दल में प्रभारी वनपाल परमजित तिवारी, वनरक्षी वरदान भगत, अरुण कुमार व त्वरित कार्रवाई दल के सदस्य शामिल थे।

इधर, सूत्रों की माने तो वनकर्मी ने ही पलंग बनवाने के लिए पटरा भेजवाया था। हालांकि वनकर्मी के पास इतनी बड़ी मात्रा में पटरा कहा से आया यह एक बड़ा सवाल है। पूरे मामले को लेकर जहाँ वनकर्मी का ही नाम सामने आ रहा है तो वही दूसरी तरफ पूरे मामले को लेकर विभाग के अन्य कर्मी भी संदेह के घेरे में है। इधर वनपाल परमजीत तिवारी ने कहा पूरे मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही पूरा मामला स्पष्ट हो पाएगा।