Breaking :
||रांची में बाइक सवार बदमाशों ने पति-पत्नी को मारी गोली, दोनों की मौत||TSPC के जोनल कमांडर ने किया बड़ा खुलासा, झारखंड में हिंसा फैलाने के लिए खरीद रहा था विदेशी हथियार||भारत-इंग्लैंड टेस्ट मैच को लेकर बल्लेबाज शुबमन गिल ने पत्रकारों से कहा- रांची में ही सीरीज जीतने के लिए हम तैयार||पलामू: बच्चों को आशीर्वाद देने निकले किन्नरों से मारपीट, आक्रोश||झारखंड: प्रेमी ने शादी से किया इंकार तो प्रेमिका ने दे दी जान||गढ़वा: JJMP के उग्रवादियों ने पुल निर्माण स्थल पर मचाया उत्पात, मशीनों में की तोड़फोड़, मजदूरों से मारपीट||झारखंड विधानसभा का बजट सत्र 23 फरवरी से, स्पीकर ने की उच्च स्तरीय बैठक||विधायक भानु प्रताप शाही एससी-एसटी एक्ट में बरी, चार लोगों को छह-छह माह कारावास की सजा||रांची पहुंची भारत और इंग्लैंड की टीमें, पारंपरिक अंदाज में हुआ स्वागत||लातेहार: ईंट भट्ठा पर फायरिंग कर अपराधियों ने फैलायी दहशत, कर्मियों को पीटा, संचालक को दी चेतावनी
Thursday, February 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड में शुक्रवार को स्कूल बंद कराने वालों के खिलाफ हेमंत सोरेन सरकार ने दिए एफआईआर के आदेश

रांची : उर्दू स्कूलों को छोड़कर झारखंड के सभी सरकारी स्कूलों में रविवार को साप्ताहिक अवकाश रहेगा। भले ही स्कूल मुस्लिम बहुल इलाकों में हो। स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के सचिव राजेश शर्मा ने सभी उपायुक्तों को इसे सख्ती से लागू करने के आदेश दिए हैं।

उन्होंने सोमवार को सभी उपायुक्तों को पत्र भेजकर कहा कि राज्य सरकार के आदेश के खिलाफ शुक्रवार को स्कूल बंद करने वाले स्थानीय लोगों या शिक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाए।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

सचिव ने उपायुक्तों से कहा है कि राज्य सरकार के सख्त निर्देश के बाद उन स्कूलों में शुक्रवार की जगह रविवार को छुट्टियां शुरू हो गई हैं, लेकिन यह भी सुनिश्चित किया जाए कि रविवार की जगह शुक्रवार को दोबारा छुट्टी न हो। उन्होंने इस पर कड़ी निगरानी रखने और स्कूल को जबरन बंद कराने वाले उत्पीड़कों और स्थानीय लोगों की पहचान करने और उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने को कहा है। नमाज में दखल देने वालों के खिलाफ भी यही कार्रवाई की जाएगी।

शिक्षा सचिव ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों और जिला शिक्षा अधीक्षकों को अवकाश के दिन परिवर्तित होने वाले स्कूलों की स्कूल प्रबंधन समितियों को भंग करने के निर्देश पहले ही दे दिए हैं। संबंधित समितियों का कोई भी परिवार का सदस्य विद्यालय प्रबंधन समिति में शामिल नहीं हो पाएगा। शिक्षा सचिव के अनुसार जिलों से अब तक प्राप्त रिपोर्ट के आधार पर शुक्रवार को करीब 400 स्कूलों में उर्दू शब्द जोड़कर अवकाश दिया जा रहा था। अन्य तीन-चार जिलों से रिपोर्ट मिलने के बाद विभागीय मंत्री को सौंपी जाएगी रिपोर्ट उनके मुताबिक अब रविवार को सभी स्कूल बंद किए जा रहे हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

राज्य में 592 उर्दू स्कूल संचालित हैं। इनमें से 298 प्राथमिक हैं, 258 प्राथमिक हैं और 36 माध्यमिक हैं। हालांकि, सर्व शिक्षा अभियान के लागू होने के बाद ये सभी उर्दू स्कूल भी अब प्राथमिक और प्राथमिक स्कूलों की श्रेणी में आ गए हैं और इनमें पढ़ाई से लेकर वही सभी योजनाएं चलाई जाती हैं जो सामान्य स्कूलों में चलाई जाती हैं। केवल शुक्रवार को अवकाश देने का प्रावधान है।